ख़बरें हैं कि जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा का रहने वाला एक रिसर्च स्कॉलर मन्नन वानी आतंकी संगठन हिज़्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ सोशल मीडिया पर हाथ में ग्रेनेड लॉन्चर लिए मन्नन की तस्वीर के साथ दावा किया गया है कि वह इसी पांच जनवरी को हिज़्बुल में शामिल हुआ है.

बताया जाता है कि वानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनविर्सिटी (एएमयू) से एप्लाइड जियोलॉजी से पीएचडी कर रहा था. ‘स्ट्रक्चरल एंड जियो-मॉर्फ़ोलॉजिकल स्टडी ऑफ लोलाब वैली कश्मीर’ उसके शोध का विषय था. एएमयू की वेबसाइट के मुताबिक़ उसे 2016 में हुई एक अंतर्राष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस के दौरान सबसे अच्छा शोध पत्र पेश करने के लिए पुरस्कार भी मिला था. उसने कश्मीर यूनवर्सिटी से जियोलॉजी एवं अर्थ साइंस में स्नातक डिग्री ली है. इसके बाद स्नातकोत्तर और एमफ़िल की पढ़ाई उसने एएमयू से ही पूरी की है.

मन्नन के भाई मुबाशिर अहमद ने अख़बार से बातचीत में माना, ‘हां, मैंने भी सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीर देखी है. लेकिन हमें पता नहीं कि वह इस वक़्त कहां है. उसके साथ हमारी चार जनवरी से कोई बातचीत नहीं हुई है. उसका फोन भी बंद आ रहा है. हमने इसी शनिवार को उसकी ग़ुमशुदगी की रिपोर्ट भी लिखाई है.’ पेशे से इंजीनियर मुबाशिर ने बताया, ‘वह एक महीने पहले अलीगढ़ के लिए निकला था. हमें अब तक तो यही लग रहा था कि वह अलीगढ़ में ही है. लेकिन अब हम नहीं कह सकते कि वह कहां है.’