लंदन, हांगकांग और सिंगापुर की तर्ज पर अब दिल्ली में भी लोग मेट्रो और सरकारी बसों में एक ही कार्ड से यात्रा कर सकेंगे. सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश के पहले कॉमन मोबिलिटी कार्ड सिस्टम का उद्घाटन किया. इसके तहत दिल्ली में यात्री एक ही प्रीपेड कार्ड से मेट्रो और दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की बसों में किराए का भुगतान कर सकेंगे.

हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार पहले चरण में डीटीसी की 5,421 बसों में से केवल 250 बसों को ही इस सिस्टम से जोड़ा गया है. लेकिन इस साल मार्च तक इससे सभी बसों को जोड़ने की योजना है. दिल्ली सरकार को उम्मीद है कि एक ही मेट्रो स्मार्ट कार्ड से मेट्रो और बस में यात्रा करने की सुविधा मिलने पर मेट्रो यात्रियों के बीच बसों की लोकप्रियता बढ़ेगी. दिल्ली में मेट्रो स्मार्ट कार्ड इस्तेमाल करने वालों की संख्या 13 लाख है. हालांकि, बीते तीन साल में डीटीसी यात्रियों की संख्या 45 लाख से घटकर 30 लाख हो गई है.

दिल्ली देश का पहला राज्य हैं, जिसने ई-पर्स ट्रेवल सिस्टम को लागू किया है. रिपोर्ट के मुताबिक इसके तहत बसों के किराए में कोई बदलाव नहीं किया गया है. इसके अलावा डीटीसी बसों में स्मार्ट कार्ड से यात्रा करने पर यात्रियों को मेट्रो की तरह किराए में कोई छूट भी नहीं दी गई है.