प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारतीय मूल (पीआईओ) के प्रवासी सांसदों के पहले सम्मेलन को संबोधित किया. द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार इन सांसदों का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा, ‘जहां भी भारतीय गए, वहां अच्छी तरह घुल-मिल गए और उसे अपना घर बना लिया.’ अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘बीते तीन-चार साल में आपने महसूस किया होगा कि दुनिया भर के देश भारत पर ध्यान दे रहे हैं. भारत बदल रहा है और आगे बढ़ रहा है. चलता है, चलता ही रहेगा का पुराना रवैया अब बदल चुका है.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि विश्व बैंक, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और मूडीज अब भारत को सकारात्मक नजरिए से देख रहे हैं. उन्होंने आगे कहा, ‘हमने बहुत दूरगामी असर वाले सुधार किए हैं. रिफॉर्म टु ट्रांसफॉर्म ही हमारा मार्गदर्शक सिद्धांत है.’ प्रधानमंत्री के मुताबिक सरकार 21वीं सदी की जरूरतों को देखते हुए तकनीक और परिवहन क्षेत्र में निवेश बढ़ा रही है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की प्रशंसा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वे केवल भारतीयों की ही नहीं, बल्कि भारतीय मूल की लोगों की भी मदद कर रही हैं.

प्रवासी भारतीय दिवस पर आयोजित इस पीआईओ सांसद सम्मेलन में 23 देशों के 120 से ज्यादा सांसदों ने हिस्सा लिया है. प्रधानमंत्री से पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस सम्मेलन को संबोधित किया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विश्व में भारत के बढ़ते प्रभाव का श्रेय दिया.