राजस्थान के शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने गुरुत्वाकर्षण के नियम की खोज को लेकर एक अलग ही दावा किया है. सोमवार को राजस्थान विश्वविद्यालय के 72वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में उन्होंने कहा, ‘हम और आप पढ़ते हैं कि न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण का नियम दिया. लेकिन गहराई में जाएंगे तो पता चलेगा कि ब्रह्मगुप्त द्वितीय ने न्यूटन से 1000 साल पहले ही गुरुत्वाकर्षण का नियम दे दिया था.’ समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी आगे कहा, ‘हमें इन बातों को पाठ्यक्रम में क्यों नहीं शामिल करना चाहिए?’

राजस्थान के शिक्षा मंत्री ने प्रदेश में कक्षा एक से 12वीं तक स्कूली पाठ्यक्रम में बदलाव किए जाने की जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘अब तक हमने और आपने पढ़ा कि अकबर महान था. लेकिन आज इस अध्याय को हटा दिया गया है और इसकी जगह पर राणा प्रताप का अध्याय लाया गया है.’ शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने मूल्य आधारित शिक्षा की जरूरत बताई. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र नेता कन्हैया कुमार का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘राजस्थान में कोई कन्हैया नहीं पैदा होना चाहिए.’

राजस्थान के शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी पहले भी विवादित बयानों की वजह से सुर्खियों में रह चुके हैं. पिछले साल उन्होंने दावा किया था कि गाय ही एक मात्र ऐसा जीव है जो अपनी सांस के साथ ऑक्सीजन छोड़ती है.