जेट एयरवेज ने उड़ान के दौरान आपस में झगड़ा करके 324 लोगों की जान जोखिम में डालने वाले दोनों पायलटों को बर्खास्त कर दिया है. यह घटना एक जनवरी को लंदन से मुंबई आ रही फ्लाइट में हुई थी. खबरों के मुताबिक जेट एयरवेज की इस उड़ान के दौरान वरिष्ठ पायलट ने साथी महिला पायलट को तमाचा मार दिया था. इसके बाद महिला पायलट कॉकपिट से बाहर आ गई थी, जिसे चालक दल के अन्य सदस्य समझाने की कोशिश कर रहे थे. ठीक इसी समय वरिष्ठ पायलट भी कॉकपिट को खाली छोड़कर बाहर आ गया था. इससे विमान के कॉकपिट में थोड़ी देर के लिए एक भी पायलट नहीं बचा था.

इस घटना के बाद जेट एयरवेज ने दोनों पायलटों को विमान उड़ाने के काम से अलग कर दिया था. वहीं, नागरिक विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने वरिष्ठ पायलट का फ्लाइंग लाइसेंस निलंबित कर दिया था. डीजीसीए के एक अधिकारी ने बताया, ‘नियमों के अनुसार किसी भी समय कोई पायलट तभी कॉकपिट से बाहर जा सकता है, जब दूसरा पायलट उसमें मौजूद रहे. जब महिला पायलट कॉकपिट से बाहर गई, तब विमान को नियंत्रित करने के लिए कॉकपिट में एक पायलट मौजूद था.’

इस मामले में महिला पायलट पर कार्रवाई के बारे में अधिकारी ने कहा कि उसकी भूमिका की जांच की जाएगी, लेकिन पहली नजर में वरिष्ठ पायलट ने बाहर जाकर कॉकपिट को मानवरहित बना दिया था, इसी वजह से उसका लाइसेंस तत्काल रद्द करना पड़ा.