अमेरिका के पिछले राष्ट्रपति चुनाव में रूसी दखल के मामले की जांच कर रही कानूनी टीम राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी पूछताछ करना चाहती है और इसके लिए उसने ट्रंप के कानूनी सलाहकारों से संपर्क किया है. यह टीम अमेरिका के न्याय विभाग की तरफ से विशेष अधिवक्ता नियुक्त किए गए रॉबर्ट मुलर के नेतृत्व जांच का काम कर रही है.

अमेरिकी मीडिया के मुताबिक मुलर यह पता लगाना चाहते हैं कि क्या ट्रंप के प्रचार सलाहकार चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश कर रही रूसी सरकार के संपर्क में थे. यह भी कहा जा रहा है कि टीम इस आरोप की जांच भी करेगी कि ट्रंप ने संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई) के तत्कालीन निदेशक जेम्स कूमी से पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइकल फ्लिन के खिलाफ इस मामले में जांच रोकने को कहा था.

पिछले दिनों फ्लिन को रूसी उच्चायुक्त के साथ अपनी मुलाकात के बारे में एफबीआई के सामने झूठ बोलने का दोषी पाया गया था. फिलहाल इस मामले में ट्रंप की कानूनी टीम कोशिश कर रही है कि राष्ट्रपति से पूछताछ के बजाय लिखित में सवाल-जवाब हों. मुलर इस मामले में डोनाल्ड ट्रंप के दामाद जैरेड कुशनर सहित अब तक कई वरिष्ठ अधिकारियों से पूछताछ कर चुके हैं. अमेरिकी विश्लेषकों के मुताबिक ट्रंप से पूछताछ की कोशिश का मतलब है कि यह जांच अब आखिरी चरण में पहुंच चुकी है.