पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ आधिकारिक यात्रा पर लंदन गए पत्रकारों की शर्मसार कर देने वाली हरक़त का ख़ुलासा हुआ है. आउटलुक पत्रिका के मुताबिक़ लंदन के आलीशान होटल में रात्रिभोज के दौरान इन पत्रकारों ने चांदी के चम्मच और छुरी-कांटे तक चुरा लिए. वह भी तब जबकि उनकी हर हरक़त सीसीटीवी (क्लोज सर्किट टेलीविजन) कैमरों में लाइव रिकॉर्ड हो रही थी. ख़बर की मानें तो इस हरक़त के लिए एक पत्रकार से 50 यूरो (लगभग 3,805 रुपए) का हर्ज़ाना भी वसूल किया गया है.

ख़बर के अनुसार होटल का स्टाफ़ उस समय भौंचक्का रह गया जब उसने देखा कि बनर्जी के साथ रात्रिभोज की टेबल पर बैठे पत्रकार चांदी के चम्मच और छुरी-कांटे चुराकर अपने बैगों में डाल रहे हैं. बताया जाता है कि सबसे पहले एक प्रतिष्ठित बंगाली समाचार पत्र के संवाददाता ने चम्मच उठाकर अपनी जेब में डाली. आउटलुक से बातचीत में बनर्जी के साथ गए एक वरिष्ठ संपादक ने इसकी पुष्टि की. उन्होंने बताया कि यह संवाददाता नियमित रूप से मुख्यमंत्री के साथ विदेश दौरे पर जाता रहता है. ख़बर के मुताबिक़ उस संवाददाता को देख दूसरे कई मीडिया संस्थानों के प्रतिनिधि भी यही सब करने लगे. उन्हें यह भी भान नहीं रहा कि उनकी हरक़त पर नजर रखी जा रही होगी और पकड़े जाने पर उनके साथ मुख्यमंत्री को भी अपमानजनक स्थिति का सामना करना पड़ सकता है.

बताते हैं कि पत्रकारों की हरक़त को सीसीटीवी के जरिए लाइव देख रहे होटल स्टाफ़ के सदस्यों में पहले कुछ समय तक यह चर्चा होती रही कि सुरक्षा अलार्म बजाकर स्थिति से निपटा जाए. पर इससे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सम्मान और गरिमा को ठेस लगती. इसलिए यह विचार टाल दिया गया. क्योंकि रात्रिभोज पर बनर्जी के साथ भारत और ब्रिटेन के कई गणमान्य अतिथि भी वहां मौजूद थे. लिहाज़ा रात्रिभोज के बाद होटल स्टाफ़ ने संबंधित पत्रकारों के पास जाकर उन्हें धीरे से बताया कि उनकी चोरी पकड़ी गई है. सब कुछ कैमरे में रिकॉर्ड हो चुका है. बताया जाता है कि इतना सुनते ही लगभग सभी पत्रकारों ने चोरी के चम्मच, छुरी-कांटे बैग से निकालकर वापस कर दिए. लेकिन एक पत्रकार इस बात पर अड़ा रहा कि उसने चोरी नहीं की है. तब होटल स्टाफ़ काे उससे सख़्ती बरतनी पड़ी. हालांकि रिपोर्ट में इस वाकये की तारीख का जिक्र नहीं है लेकिन ममता बनर्जी बीते साल नवंबर में लंदन की यात्रा पर थीं.