पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा इनकार करने के बाद कलकत्ता हाई कोर्ट ने भाजपा को बाइक रैली निकालने की इजाजत दे दी है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार बुधवार को हाई कोर्ट ने कहा कि रैली की इजाजत देने से इनकार नहीं किया जा सकता है. अदालत ने राज्य सरकार को इसके लिए पर्याप्त पुलिस का इंतजाम करने का निर्देश दिया. हालांकि, अदालत ने यह भी कहा कि रैली व्यवस्थित तरीके से होनी चाहिए.

भाजपा के युवा मोर्चा ने स्वामी विवेकानंद की जयंती के मौके पर 11-17 जनवरी तक ‘प्रतिरोध संकल्प अभियान’ की योजना बनाई है. इसके तहत पूर्वी मिदनापुर से उत्तरी बंगाल में कूच बिहार जिले तक बाइक रैली निकालने की योजना है. यह कुल दूरी 1600 किमी होगी.

पांच जनवरी को पश्चिम बंगाल पुलिस ने यह कहते हुए इस रैली के लिए इजाजत नहीं दी थी कि इससे गंगासागर मेले में दिक्कत आएगी. 24 परगना जिले में मकर संक्रांति के मौके पर सागर द्वीप पर लाखों श्रद्धालु पहुंचते हैं. पश्चिम बंगाल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) अनुज शर्मा ने आशंका जताई थी कि यह बाइक रैली श्रद्धालुओं की आवाजाही में बाधा पैदा कर सकती है. उधर, भाजपा ने राज्य की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पर बदले की भावना के साथ काम करने का आरोप लगाया था.