जम्मू-कश्मीर की शरमीन मुश्ताक़ निज़ामी पेशे से डॉक्टर हैं. उम्र 40 साल और दो बच्चों की मां हैं. लेकिन शौक से स्नो कार रेसर भी. और अपने इस शौक के चलते वे जम्मू-कश्मीर की पहली महिला स्नो कार रेसर बनने वाली हैं.

द एशियन एज़ के मुताबिक़ श्रीनगर के एक सरकारी अस्पताल में नौकरी करने वाली डॉक्टर शरमीन गुलमर्ग में 20 जनवरी से शुरू हो रही दो दिवसीय स्नो कार रेसिंग में हिस्सा लेने वाली हैं. इस प्रतिस्पर्धा का नाम ‘फ्रोज़ेन रश-2’ है. यह देश की इक़लौती स्नो कार रेस (ऑटो क्रॉस) भी है. इसमें हिस्सा लेने के लिए उत्साहित डॉक्टर शरमीन कहती हैं, ‘मैं कश्मीर की हर उस महिला के सामने मिसाल पेश करना चाहती हूं जो बंदिशें तोड़कर कुछ अलग करने की इच्छा रखती हैं.’

इस प्रतिस्पर्धा आयोजन ‘कश्मीर ऑफ रोड’ (केओआर) नाम की संस्था करती है. इस संस्था की जनसंपर्क निदेशक फ़राह ज़ैदी के मुताबिक, ‘स्नो कार रेसिंग में पुरुषों का वर्चस्व है. लेकिन पहली बार इसमें एक महिला हिस्सा ले रही है. यक़ीनन इसके जरिए कश्मीर मोटरस्पोर्ट्स का परिदृश्य एक बड़े बदलाव का गवाह बन रहा है.’ बता दें कि समुद्र तल से 2,650 मीटर की ऊंचाई पर श्रीनगर से 54 किलोमीटर दूर स्थित गुलमर्ग में जनवरी-मार्च के बीच कई शीतकालीन खेल होते हैं.