ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने अपनी सरकार में भारतीय मूल के तीन सांसदों को शामिल किया है. इनमें इन्फोसिस के सह-संस्थापक नारायणमूर्ति के दामाद ऋषि सुनक भी शामिल हैं. उनके अलावा सुएला फर्नांडिस और शैलेश वारा को भी सरकार में शामिल किया गया है. ऋषि सुनक को ब्रिटिश सरकार में आवास, समुदाय और स्थानीय सरकार के मंत्रालय का संसदीय उपराज्य सचिव बनाया गया है. सुएला फर्नांडिस यूरोपियन यूनियन से ब्रिटेन के बाहर निकलने से संबंधित मंत्रालय की संसदीय उपराज्य सचिव होंगी. उधर, शैलेश वारा उत्तरी आयरलैंड कार्यालय के संसदीय उपराज्य सचिव बनाए गए हैं.

ऋषि सुनक ने 2014 में राजनीति में कदम रखा था. वे 2015 में उत्तरी यॉर्कशर से चुनाव जीतकर पहली बार सांसद बने थे. 2017 में हुए चुनाव में उन्होंने फिर जीत हासिल की थी. 37 साल के ऋषि ब्रेक्जिट समर्थक रहे हैं. वे ऑक्सफर्ड और स्टैनफर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ चुके हैं. ऋषि सुनक एक निवेश फर्म के सह-संस्थापक भी हैं. यह फर्म बेंगलुरु स्थित कंपनियों के साथ काम करती है. सुनक और नारायणमूर्ति की बेटी अक्षता की मुलाकात 2009 स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में हुई थी. वे दोनों क्लासमेट थे. भारत लौटने से पहले अक्षता वहां काफी साल तक रहीं. इस दंपति की दो बेटियां हैं जिनका नाम कृष्णा और अनुष्का है.