सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के विशेष जज बृजगोपाल हरिकिशन लोया की पोस्टमार्टम रिपोर्ट मांगी है. शुक्रवार को चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने इसे ‘बहुत गंभीर मामला’ बताया. इस पीठ में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस एएम खानविल्कर भी शामिल हैं. शीर्ष अदालत अब 15 जनवरी को इस पर सुनवाई करेगी.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार शीर्ष अदालत महाराष्ट्र के एक पत्रकार बीआर लोन की याचिका पर सुनवाई कर रही है. इसमें जज बीएच लोया की संदिग्ध मौत की स्वतंत्र जांच कराने की मांग की गई है. उधर, बॉम्बे लॉयर्स एसोसिएशन ने भी आठ जनवरी को बॉम्बे हाई कोर्ट में ऐसी ही याचिका लगाई है. इसमें सुप्रीम कोर्ट की रिटायर जज की अध्यक्षता में एक जांच आयोग बनाने की मांग की गई है.

सीबीआई के विशेष जज बीएच लोया की एक दिसंबर 2014 को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. वे तब गुजरात के सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे. इसमें भाजपा के मौजूदा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और राज्य के अन्य पुलिस अधिकारी आरोपित थे.