अमेरिका ने भारतीय पोर्टल इंडियामार्ट और दिल्ली के थोक बाजार टैंक रोड को अपनी बदनाम बाजारों की सूची में शामिल किया है. ‘2017 नोटोरियस मार्केट्स’ नाम की यह सूची शुक्रवार को यूएस ट्रेड रिप्रेजेंटेटिव (यूएसटीआर) की तरफ से जारी की गई. एनडीटीवी के मुताबिक इसमें दुनिया के 25 ऑनलाइन मार्केटों और 18 दूसरे बाजारों के नाम शामिल हैं. इन बाजारों के बारे में कहा जाता है कि इनमें नकली उत्पाद बेचे जाते हैं और ट्रेडमार्क को लेकर जालसाजी की जाती है. सूची में सबसे ऊपर चीन का नाम है जहां सबसे ज्यादा नकली उत्पाद बेचे जाते हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक टैंक रोड बाजार में नकली उत्पाद बेचे जा रहे हैं. इसकी मानें तो अन्य भारतीय बाजारों में भी नकली उत्पाद पाए गए हैं. इनमें गफ्फार मार्केट और अजमल खान रोड स्थित मार्केट शामिल है. यूएसटीआर से जुड़े रॉबर्ट लाइथिजर के मुताबिक अमेरिका चाहता है कि भारत टैंक रोड सहित उन तमाम बाजारों पर कार्रवाई करे जो इससे पहले आई अमेरिकी सूचियों में शामिल हैं.

वहीं, इंडियामार्ट को लेकर यूएसटीआर ने आरोप लगाया है कि इसके जरिए दुनियाभर में नकली और अवैध दवाइयां बेची जा रही हैं. रिपोर्ट के मुताबिक इंडियामार्ट इस बारे में अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लेता है. रॉबर्ट लाइथिजर का कहना है कि दुनियाभर में अवैध कारोबार को अंजाम दे रहे बाजारों की वजह से अमेरिकी अर्थव्यवस्था, नए उत्पादों और कामगारों को काफी नुकसान पहुंचता है. उन्होंने कहा, ‘ट्रंप प्रशासन बौद्धिक संपदा के अधिकार का उल्लंघन करने वालों को जिम्मेदार ठहराने और जालसाजी व पाइरेसी को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध है.’