सरकारी तेल कंपनी ओएनजीसी के पांच कर्मचारियों और दो पायलटों के साथ एक पवन हंस हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक यह हादसा 20 नॉटिकल मील की दूरी पर हुआ. अब तक पांच शव मिल चुके हैं और बाकी लोगों को तलाशने का काम जारी है. इस पवन हंस हेलिकॉप्टर ने शनिवार सुबह 10.20 बजे मुंबई के जुहू एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी. इसे 10.58 पर 30 नॉटिकल मील दूर ओएनजीसी की एक ऑयल रिग पर उतरना था. लेकिन यह तय जगह पर नहीं उतर पाया था और इसका ओएनजीसी या एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) से संपर्क भी टूट गया था.

ओएनजीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘हमने लापता हेलिकॉप्टर को तलाशने के लिए चार हेलिकॉप्टर लगाए हैं. इस हेलिकॉप्टर पर पांच कर्मचारी सवार थे. हम उन्हें जल्द से जल्द खोजने की कोशिश कर रहे हैं.’ इंडियन कोस्ट गार्ड और नौसेना ने भी इस तलाशी अभियान में अपने जहाजों और हेलिकॉप्टरों को लगाया है. रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि नौसेना और इंडियन कोस्ट गार्ड लापता लोगों को तलाशने में हर संभव मदद कर रहे हैं.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस हादसे पर शोक जताया है और सभी मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की है.