कर्नाटक की बंतवाल विधानसभा सीट पर होने वाले चुनाव को राम और अल्लाह का मुकाबला बताने वाले भाजपा विधायक सुनील कुमार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 153 (ए) और 505 (2) के तहत मामला दर्ज किया गया है. सुनील कुमार करकला सीट से भाजपा के विधायक हैं. उन्होंने बंतवाल चुनाव के संदर्भ में बोलते हुए कहा था, ‘यह चुनाव राम और अल्लाह के बीच है. हिंदुओं को तय करने दो कि अल्लाह जीतेगा या श्रीराम के मित्र को जीतना चाहिए.’ कर्नाटक में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने हैं.

बंतवाल चुनाव में कांग्रेस के बी रामनाथ राय और भाजपा के राजेश नायक के बीच मुकाबला है. रामनाथ राय यहां से छह बार चुनाव जीत चुके हैं. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक सुनील कुमार के बयान से पहले उन्होंने कहा था कि वे अल्लाह और मुसलमानों के धर्मनिरपेक्ष रवैये की वजह से लगातार चुनाव जीते हैं. इस पर भाजपा विधायक ने दावा किया कि रामनाथ राय अल्लाह के आशीर्वाद के चलते पिछले छह चुनावों से जीत रहे हैं. सुनील कुमार ने कहा, ‘बंतवाल सीट से छह बार चुनाव जीतने वाले विधायक ने कहा है कि वे अल्लाह की दुआओं से जीते हैं. लोगों को तय करना है कि बंतवाल में किसे जीतने चाहिए. क्या आप बार-बार अल्लाह को जिताएंगे या ऐसे आदमी को चुनेंगे जो राम से प्यार करता है? यही मुद्दा है. यह भाजपा और कांग्रेस के बीच (मुकाबले) की बात नहीं है.’

उधर, रामनाथ राय का कहना है कि चुनावों में विकास के मुद्दे पर ध्यान दिया जाना चाहिए. राय ने कहा, ‘बहस इस बात पर होनी चाहिए कि मैंने अपने चुनाव क्षेत्र के लिए काम किया या नहीं. हालांकि भाजपा हमेशा अतिवाद की बात करती है. उन्हें (सुनील कुमार) इस तरह बात नहीं करनी चाहिए. उनकी बात का क्या मतलब है? हम महात्मा गांधी में विश्वास रखते हैं. हमारा संविधान कहता है कि चुनावों में धार्मिक हस्तेक्षप नहीं होना चाहिए.’