बॉम्बे हाई कोर्ट ने सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले में अदालत की कार्यवाही से जुड़ी खबरें प्रकाशित करने पर लगी रोक हटा ली है. खबरों के मुताबिक जस्टिस रेवती मोहिते-देरे ने कहा कि इस मामले में सुनवाई के किसी भी हिस्से से जुड़ी खबरों के प्रकाशन पर रोक लगाना कानून के खिलाफ है.

29 नवंबर 2017 को मुंबई स्थित केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने बचाव पक्ष की मांग पर यह रोक लगाई थी. बचाव पक्ष का कहना था कि इस मामले में सुनवाई की मीडिया कवरेज होने से अभियोजन पक्ष और बचाव पक्ष के वकीलों के अलावा आरोपितों की सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है.

हालांकि, दिसंबर 2017 में नौ पत्रकारों ने निचली अदालत के इस फैसले को बॉम्बे हाई कोर्ट में चुनौती दी थी. इन पत्रकारों में स्क्रॉल डॉट इन के संपादक नरेश फर्नांडिस भी शामिल थे. याचिकाकर्ताओं ने निचली अदालत के फैसले को कानूनी तौर पर गलत और पत्रकारों के सामने अपनी जिम्मेदारी निभाने में सबसे बड़ी बाधा बताया था. उधर, बृहन्मुंबई यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स ने भी बॉम्बे हाई कोर्ट में ऐसी ही याचिका लगाई थी.