जम्मू-कश्मीर में बीते दो सालों में पाकिस्तान की तरफ से हुई गोलाबारी में 25 लोगों की मौत हो गई जबकि 163 घायल हो गए. यह जानकारी राज्य के दो विधायकों द्वारा पूछे गए सवाल के लिखित जवाब में वहां के राजस्व मंत्री अब्दुल रहमान वीरी ने दी है. उन्होंने यह भी बताया कि पिछले दो वर्षों के दौरान इस गोलाबारी में 224 भवनों को भी नुकसान पहुंचा. इनमें 221 मकानों के अलावा दो मस्जिदें और एक स्कूल भी शामिल है.

इस साल की शुरुआत से ही जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन जारी है. बीते शनिवार को पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तानी गोलीबारी में सेना का एक जवान शहीद हो गया. अधिकारियों के मुताबिक अब तक इस तरह की गोलाबारी में नौ लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें बीएसएफ के दो जवान शामिल हैं. इसकी वजह से अंतरराष्ट्रीय सीमा पर रहने वाले हजारों लोगों को विस्थापित भी होना पड़ा है.