69वें गणतंत्र दिवस के मौके पर पद्म पुरस्कारों के लिए नामों की घोषणा कर दी गई है. विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट योगदान के लिए इस साल 85 लोगोंं को देश के इन नागरिक सम्मानों से अलंकृत किया जाएगा. खास बात यह भी है कि एसोसिएशन आॅफ साउथ ईस्ट एशियन नेशंस (आसियान) से भी एक-एक शख्सियत को पद्म पुरस्कार के लिए चुना गया है.

देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्मविभूषण से मशहूर संगीतकार इलैयाराजा और साहित्य व शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान करने वाले गुलाम मुस्तफा खान को चुना गया है. खेल जगत से इस साल भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जबकि बिलियर्ड्स से पंकज आडवानी को देश तीसरे सबसे बड़े पुरस्कार पद्मभूषण से सम्मानित किया जाएगा. उनके अलावा साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र से वेद प्रकाश नंदा, संगीत के क्षेत्र में योगदान देने के लिए अरविंद पारिख तथा शारदा सिन्हा, कला क्षेत्र से लक्ष्मण पई, अध्यात्म से पीएम क्रिसोस्टम, लोक कार्य के लिए रूस के एलेक्जेंडर काडाकिन और आर्कियोलॉजी के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए रामचंद्रन नागास्वामी को पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित किए जाने की घोषणा की गई है.

पद्मश्री पुरस्कारों के लिए 73 नामों की घोषणा हुई है. इनमें साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाले उत्तर प्रदेश के अनवर जलालपुरी के अलावा इसी प्रदेश के लोक कलाकार मोहन स्वरूप भाटिया, विज्ञान एवं इंजीनियरिंग के लिए बिहार के मानस बिहारी वर्मा और झारखंड के दिगंबर हंसदा कुछ प्रमुख नाम हैं.

बता दें कि समाज, संस्कृति, शिक्षा, लोक कार्य, खेल, व्यापार, शोध जैसे विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले लोगों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया जाता है. पुरस्कारों के लिए नामों की घोषणा गणतंत्र दिवस के अवसर पर की जाती है मार्च या अप्रैल के महीने में राष्ट्रपति भवन में आयोजित होने वाले समारोह में देश के राष्ट्रपति इन पुरस्कारों को प्रदान करते हैं.