उत्तर प्रदेश पुलिस ने कासगंज में चंदन गुप्ता की हत्या के मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है. चंदन गुप्ता की 26 जनवरी को सांप्रदायिक हिंसा के दौरान मौत हो गई थी. खबरों के मुताबिक पुलिस मुख्य आरोपित सलीम जावेद से पूछताछ कर रही है. अलीगढ़ के पुलिस महानिरीक्षक संजीव गुप्ता ने बताया कि सलीम जावेद कासगंज में ही छिपा था.

कासगंज हिंसा के सिलसिले में पुलिस ने अब तक सात एफआईआर दर्ज किए हैं. इसके अलावा 115 लोगों को गिरफ्तार किया है. 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाने को लेकर हिंदू और मुस्लिम गुटों में टकराव हो गया था. इसके बाद गोली लगने से चंदन गुप्ता की मौत हो गई थी. मंगलवार को आईजी संजीव गुप्ता ने बताया था कि इस घटना की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) बनाया गया है.

इस बीच कासगंज में हिंसा से जुड़ा एक और वीडियो सामने आया है. इसमें तिरंगा यात्रा में शामिल युवक बंदूकों के साथ दिखाई दे रहे हैं. खबरों के मुताबिक यह वीडियो स्थानीय तहसील कार्यालय की छत से बनाया गया था. फिलहाल विशेष जांच दल इस 14 सेकेंड के वीडियो की जांच कर रहा है, जिसमें युवक फायरिंग करते दिखाई दे रहे हैं. इससे पहले आए वीडियो में तिरंगा यात्रा में शामिल युवाओं को भगवा झंडे और तिरंगे को लहराते देखा गया था.