राजस्थान में संपन्न उपचुनाव में सत्ताधारी भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है. मुख्य विपक्ष दल कांग्रेस ने उसके कब्जे वाली विधानसभा की एक और लोकसभा की दोनों सीटों को छीन लिया है. विधानसभा की मांडलगढ़ सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी विवेक धाकड़ ने भाजपा प्रत्याशी शक्ति सिंह हाडा को 12,976 वोटों से हराया. मांडलगढ़ सीट भाजपा विधायक कीर्ति कुमारी के निधन से खाली हुई थी.

कांग्रेस ने अलवर और अजमेर लोकसभा की सीट भी भाजपा से छीन ली है. अलवर में कांग्रेस प्रत्याशी करण सिंह यादव ने भाजपा प्रत्याशी जशवंत सिंह यादव को 1,56,319 वोटों से हराया. वहीं, अजमेर में कांग्रेस प्रत्याशी रघु शर्मा ने भाजपा प्रत्याशी राम स्वरूप लांबा को मात दी. अजमेर की लोकसभा सीट भाजपा सांसद सांवर लाल जाट, जबकि अलवर सीट भाजपा सांसद चांद नाथ योगी के निधन से खाली हुई थी. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस जीत के लिए पार्टी नेताओं को बधाई दी है. उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा को राजस्थान की जनता ने खारिज कर दिया है. वहीं, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जनता के फैसले को सर-माथे पर बताया है.

उधर, पश्चिम बंगाल उपचुनाव में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने लोकसभा और विधानसभा की सीट जीत ली. उलुबेरिया लोकसभा सीट पर टीएमसी प्रत्याशी सजदा अहमद ने भाजपा प्रत्याशी अनुपम मलिक को 4,74,000 वोटों से हराया. भाजपा प्रत्याशी को 2,93,000 वोट मिले. वहीं, नोआपाड़ा विधानसभा सीट पर टीएमसी प्रत्याशी सुनील सिंह ने भाजपा प्रत्याशी संदीप बनर्जी को 63,018 वोटों से मात दी. यह सीट पहले कांग्रेस के पास थी. पश्चिम बंगाल उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी दूसरे नंबर पर रहे, जिसे पार्टी के लिए अच्छा संकेत माना जा रहा है.