भारत ने अंडर-19 विश्व कप जीत लिया है. शनिवार को हुए फाइनल मुकाबले में उसने ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हरा दिया. जीत के लिए 217 रनों के लक्ष्य को भारत ने 38.5 ओवरों में ही हासिल कर लिया. भारत की तरफ से मनजोत कालरा ने 101 और हार्विक देसाई ने 47 रनों की नाबाद पारियां खेलीं. भारत अब चार बार अंडर-19 विश्व कप विजेता बन चुका है. इससे पहले साल 2000, 2008 और 2012 में भी उसने यह टूर्नामेंट जीता था.

न्यूजीलैंड के बे ओवल में हुए इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने जल्द ही उसका यह फैसला गलत साबित कर दिया. पूरी पारी के दौरान ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के आगे टिक नहीं पाए. सिर्फ जोनाथन मर्लो इसका अपवाद रहे जिन्होंने सर्वाधिक 76 रन बनाए. ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम 47.2 ओवरों तक सभी विकेट गंवा कर 216 रन ही बना सकी. भारत की तरफ से ईशान पोरेल, शिवा सिंह, कमलेश नागरकोटी और अनुकूल रॉय ने दो-दो विकेट लिए.

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय सलामी जोड़ी की शुरुआत अच्छी हुई. कप्तान पृथ्वी शॉ और मनजोत कालरा ने पहले विकेट के लिए 71 रन जोड़े. आउट होने से पहले पृथ्वी शॉ ने 29 रन बनाए. उन्हें सदरलैंड ने बोल्ड किया. लेकिन मनजोत शानदार शतक लगाते हुए पारी के अंत तक टिके रहे. उन्होंने शुभमन गिल के साथ 60 रन जोड़े, और बाद में हार्विक देसाई के साथ मिलकर टीम को जिताकर लौटे.