अमेरिका के वायुसेना प्रमुख जनरल डेविड एल गोल्डफिन भारत के स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान तेजस को उड़ाने वाले पहले विदेशी सैन्य प्रमुख बन गए हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार शनिवार को उन्होंने जोधपुर एयरफोर्स स्टेशन से तेजस में उड़ान भरी. उनके साथ एयर वाइस मार्शल एपी सिंह सह-पायलट रहे.

जनरल डेविड एल गोल्डफिन अपनी आधिकारिक यात्रा पर शुक्रवार को भारत पहुंचे. स्वागत के लिए भारतीय वायु सेना का आभार जताते हुए फेसबुक पर उन्होंने लिखा था कि वे इस यात्रा के भारत और अमेरिकी वायुसेना के पहले से मजबूत संबंधों को और अधिक मजबूत बनाना चाहते हैं. जनरल डेविड एल गोल्डफिन ने यह भी कहा था कि भारत दुनिया के दूसरे सबसे बड़े सी-17 ग्लोबमास्टर बेड़े का संचालन कर रहा है और क्षेत्रीय जरूरतों को पूरा करने के लिए इसमें लगातार सुधार भी कर रहा है. सी-17 ग्लोबमास्टर भारी-भरकम परिवहन विमान है.

भारतीय वायु सेना में स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान तेजस का पहला बेड़ा जुलाई 2016 में शामिल किया गया था. तेजस 4,000 किग्रा के वजन के साथ 1,350 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है. भारतीय वायुसेना ने दिसंबर 2017 में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के साथ 83 तेजस विमान का सौदा किया है. इसे भारत के रक्षा निर्माण के स्वदेशीकरण के लिहाज से बड़ा कदम माना जा रहा है.