बहुचर्चित शीना बोरा हत्याकांड की मुख्य आरोपित इंद्राणी मुखर्जी की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार सोमवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने आईएनएक्स मीडिया मामले में उन्हें दो दिन की सीबीआई रिमांड में भेज दिया. आईएनएक्स मीडिया की पूर्व मालकिन इंद्राणी मुखर्जी इस समय मुंबई की भायखला जेल में बंद हैं. उन पर आईएनएक्स मीडिया के लिए गलत तरीके से निवेश हासिल करने का आरोप है.

इससे पहले दो फरवरी को मुंबई स्थित विशेष अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को इंद्राणी मुखर्जी के खिलाफ दिल्ली की अदालत से प्रोडक्शन वारंट लेने की इजाजत दे दी थी. ईडी ने अदालत से आईएनएक्स मीडिया के आयकर ब्योरे में गड़बड़ी की शिकायत की जानकारी देते हुए पूछताछ के लिए उन्हें दिल्ली ले जाने की इजाजत मांगी थी. ईडी ने मनी लॉन्डरिंग कानून के तहत आईएनएक्स मीडिया, इसके संस्थापक पीटर मुखर्जी और उनकी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

रिपोर्ट के मुताबिक आईएनएक्स मीडिया पर मॉरीशस से निवेश लेने के दौरान विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड (एफआईपीबी) के दिशानिर्देशों के उल्लंघन का आरोप है. इसी मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी आरोपित हैं. उन पर 2006 में आईएनएक्स मीडिया को निवेश के लिए एफआईपीबी से इजाजत दिलाने और इसके बदले में भुगतान लेने का आरोप है.