परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम भारत की स्वदेश निर्मित मिसाइल अग्नि-1 का मंगलवार को सफल परीक्षण किया गया. यह मिसाइल ओडिशा तट में अब्दुल कलाम द्वीप पर स्थित एकीकृत परीक्षण रेंज से छोड़ी गई. ख़बरों के मुताबिक़ यह अग्नि-1 का 18वां संस्करण (परीक्षण) है. लगभग 700 किलोमीटर दूर तक मार करने वाली इस मिसाइल ने परीक्षण के दौरान सभी निर्धारित मानक सफलतापूर्वक हासिल किए. सेना में यह मिसाइल 2004 में शामिल हुई थी. रक्षा सूत्रों के मुताबिक़ इस परीक्षण से बेहद कम समय में मिसाइल दागने की सेना की तैयारी फिर पुख़्ता हुई है.

अग्नि-1 मिसाइल में अपना एक विशिष्ट नैविगेशन सिस्टम (रास्ता दिखाने वाली प्रणाली) है. इसके ज़रिए आला दर्ज़े की सटीकता के साथ यह निशाने पर टकराती है. यह 1,000 किलोग्राम तक हथियार अपने साथ ले जा सकती है. अग्नि-1 की कुल लंबाई लगभग 15 मीटर और वजन क़रीब 12 टन है. इससे पहले इसका परीक्षण 22 नवंबर 2016 में हुआ था. वह परीक्षण भी सफल रहा था.