वर्चुअल मुद्रा बिटकॉइन को भले ही भारत में कानूनी मान्यता न मिली हो लेकिन इससे होने वाली आय टैक्स के दायरे में आएगी. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार मंगलवार को केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के अध्यक्ष सुशील चंद्रा ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘जिन्होंने बिटकॉइन से आमदनी की है, उन्हें इस पर टैक्स देना होगा.’ सुशील चंद्रा ने आगे कहा कि बिटकॉइन में निवेश करने वालों से उनकी आय का स्रोत पूछा जाएगा और अगर उन्होंने टैक्स नहीं दिया तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. पीटीआई के अनुसार सुशील चंद्रा ने यह भी कहा कि बिटकॉइन में निवेश की जानकारी इनकम टैक्स रिटर्न में न देने वालों को आयकर विभाग नोटिस भेज रहा है.

तेजी से लोकप्रिय हो रही वर्चअल मुद्रा बिटकॉइन को लेकर सरकार ने लगातार कहा है कि यह भारत में कानूनी तौर पर मान्य नहीं है. बीते हफ्ते बजट भाषण में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी कहा था कि सरकार बिटकॉइन को कानूनी मंजूरी देने पर विचार नहीं कर रही है. उन्होंने यह भी कहा था कि सरकार गैर-कानूनी गतिविधियों में बिटकॉइन के इस्तेमाल को रोकने के लिए कदम उठाएगी.