ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मांग की है कि मुसलमानों को पाकिस्तानी कहने वाले किसी भी व्यक्ति को सजा देने के लिए कानून बनाया जाए. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक मंगलवार को लोकसभा में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि ऐसा करने के आरोप में दोषी पाए गए व्यक्ति को तीन साल की सजा दी जाए. ओवैसी का यह बयान बरेली के जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) राघवेंद्र विक्रम सिंह की उस टिप्पणी के बाद आया जिसमें उन्होंने कहा था कि मुस्लिम इलाकों में जबरदस्ती घुसने, पाकिस्तान-विरोधी लगाने और हंगामा करने का चलन चल पड़ा है.

कासगंज की हिंसा के बाद राघवेंद्र सिंह ने फेसबुक पर दो पोस्ट डाली थीं. उन्होंने कहा था, ‘अजब रिवाज बन गया है. मुस्लिम मोहल्लों में जबरदस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ. क्यों भाई, वे पाकिस्तानी हैं क्या? यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए.’ डीएम की इस टिप्पणी पर विवाद बढ़ा तो उन्होंने अपनी पोस्ट हटा ली. हालांकि वे अपने रुख पर कायम रहे. गणतंत्र दिवस पर कासंगज में हुई हिंसा में एक युवक की मौत हो गई थी.