प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को लोक सभा में कांगेस पर जमकर आरोप लगाए. उन्होंने कहा, ‘मेरे पास इस बात के सबूत हैं कि कांग्रेस ने किस तरह देश काे लूटा है. आपको अब अपने पापों की सजा भुगतनी होगी. वक़्त आ गया है जब आपको इस सब के लिए ज़िम्मेदार ठहराया जाए.’

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव की बहस का ज़वाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आप लगातार जो मन में आए कहे जा रहे थे. लेकिन देश हित को ध्यान में रखते हुए मैं चुप रहा. चुपचाप देश के फ़ायदे के लिए काम करता रहा. मगर अब वक़्त आ गया है कि लोग सच जानें. उन्हें पता चले कि कैसे कांग्रेस ने देश को बर्बाद किया है. मैं यहां संसद में, लोकतंत्र के मंदिर में खड़े होकर पूरी ज़िम्मेदारी के साथ कहता हूं कि देश की बैंकिंग व्यवस्था पर फंसे हुए कर्ज़ का बोझ पूरा-पूरा आपकी (कांग्रेस) वज़ह से है. आप इसके लिए सौ फ़ीसदी ज़िम्मेदार हैं. काेई और नहीं.’

उन्होंने कहा, ‘पिछल सरकार के समय बैंकिंग नीतियां ही ठीक नहीं थीं. बिचौलिए मौज कर रहे थे और देश तक़लीफ़ झेल रहा था. बिना जांच-पड़ताल के कर्ज़ बांटे जा रहे थे. इस तरह जैसे मिठाई बांटी जा रही हो. आपके ग़लत फ़ैसले ही आज की बदतर स्थिति के लिए ज़िम्मेदार हैं. लेकिन आज जो अच्छे काम हो रहे हैं उन पर प्रतिक्रिया कैसे करें कांग्रेस को यही समझ में नहीं आ रहा है. उदाहरण के लिए जब जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) आया तो वह बड़ी सफलता थी. पर उन्हें सूझा नहीं कि प्रतिक्रिया कैसे करें. इसलिए उन्होंने (कांग्रेस) उस पर चुटकुले बनाने शुरू कर दिए.’

प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाई. उन्होंने कहा, ‘मैं जानता हूं कि मेरी सरकार भ्रष्टाचार और काले धन पर लगाम लगाने के लिए जो काम कर रही है कि उससे कुछ चुनिंदा लोगों को तक़लीफ़ हो रही है. कांग्रेस भी इसीलिए नाख़ुश है. लेकिन यह स्पष्ट है कि अब हम ईमानदारी के युग में हैं. वे लोग जो कभी मुख्यमंत्री हुआ आज जेल में हैं. और आगे भी वो चाहे जितना ताक़तवर क्यों न हो अगर भ्रष्ट है तो उसे सजा भुगतनी होगी.’ हालांकि उन्होंने कांग्रेस सहित समूचे विपक्ष से अपील भी की कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देश के लिए मिलकर काम करें.