‘मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां देश के साथ धोखा है.’

— पी चिदंबरम, कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम का यह बयान बजट-2018 पर वित्त मंत्री अरुण जेटली से 12 सवालों का जवाब मांगते हुए आया. उन्होंने कहा कि इस सरकार ने सारे वित्तीय अनुशासन को खिड़की से बाहर फेंक दिया है. पी चिंदबरम ने आगे कहा, ‘हम तीन तलाक बिल का समर्थन करते हैं, लेकिन न्यूनतम समर्थन मूल्य, नौकरियों और आयुष्मान भारत जैसे तीन जुमलों का नहीं.’ उन्होंने पूछा कि क्या सरकार किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य और बाजार मूल्य में अंतर का भुगतान करेगी? पी चिदंबरम का यह भी सवाल था कि कच्चे तेल के दाम बढ़े हैं, ऐसे में क्या सरकार पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क घटाएगी?

‘मोदी सरकार मैक्सिमम पब्लिशिटी-मिनिमम गवर्नेंस या मैक्सिमम मार्केटिंग-मिनिमम डिलीवरी की तर्ज पर काम करती है.’

— सोनिया गांधी, कांग्रेस की वरिष्ठ नेता

कांग्रेस नेता सोनिया गांधी का यह बयान मोदी सरकार पर यूपीए की नीतियों को आकर्षक नामों से लागू करने का आरोप लगाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘शायद सरकार यह मानती है कि भारत में मई 2014 से पहले कुछ भी नहीं था.’ बुधवार को संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण पर सोनिया गांधी ने कहा, ‘यह अंहकार और झूठ बताता है कि मोदी सरकार हकीकत से दूर है और अपने ही दुष्प्रचार और झूठ में जी रही है.’ अल्पसंख्यकों और दलितों के खिलाफ हिंसा पर चिंता जताते हुए उन्होंने अपरोक्ष रूप से भाजपा पर उत्तर प्रदेश और गुजरात में ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाया.


‘अगर हमने कश्मीर जैसे मुद्दों को गंभीरता से नहीं लिया तो एक दिन हम सब पर दिल्ली में बैठकर पकौड़ा तलने की नौबत आ जाएगी.’

— संजय राउत, शिवसेना सांसद

शिवसेना सांसद संजय राउत का यह बयान भाजपानीत केंद्र सरकार को बुनियादी मुद्दों पर ध्यान देने की सलाह देते हुए आया. उन्होंने जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान द्वारा लगातार किए जा रहे संघर्ष विराम के उल्लंघन और आतंकी हमलों में भारतीय सैनिकों की शहादत पर चिंता जताई. संजय राउत ने आगे कहा, ‘कश्मीर में हर दिन जवान शहीद हो रहे हैं. कल वहां अस्पताल में गोलियां चलीं और हम (यहां) पकौड़ा-भाजिया की बात कर रहे हैं.’ पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोजगार के सवाल पर पकौड़ा बेचने का उदाहरण दिया था. इसके बाद राज्यसभा में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि पकौड़ा बेचना भीख मांगने से बेहतर है. अब खबर आई है कि भाजपा चुनावों को देखते हुए ‘पकौड़ा पार्टियां’ आयोजित करने पर विचार कर रही है.


‘क्या ये (विनय) कटियार के बाप का देश है, यह हम सब का देश है.’

— फारुख अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और सांसद

सांसद फारुख अब्दुल्ला का यह बयान भाजपा सांसद विनय कटियार की टिप्पणी की प्रतिक्रिया में आया. विनय कटियार ने कहा था कि मुसलमालों को देश में रहना ही नहीं चाहिए, उन्हें पाकिस्तान या बांग्लादेश चले जाना चाहिए. इस पर फारुख अब्दुल्ला ने कहा, ‘जो लोग ऐसी बातें करते हैं, वे नफरत फैलाते हैं.’ उन्होंने यह भी कहा कि धर्म नफरत की बातें नहीं फैलाता है, बल्कि सारे धर्म मोहब्बत और एक-दूसरे की इज्जत करना सिखाते हैं. विनय कटियार के बयान पर योग गुरु रामदेव ने भी असहमति जताई थी और धर्म के आधार पर भेदभाव को गलत बताया था.


‘अगर गेंदबाजी सही होगी तो विकेट मिलते रहेंगे.’

— झूलन गोस्वामी, क्रिकेट खिलाड़ी

क्रिकेटर झूलन गोस्वामी ने यह बात वनडे में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड अपने नाम करने के बाद कही. उन्होंने कहा, ‘जब मैं दुनिया में सबसे ज्याद विकेट लेने वाली गेंदबाज बनने से महज तीन विकेट दूर थी, तब मैं अपने विकेट की गिनती कर रही थी.’ झूलन गोस्वामी ने आगे कहा, ‘मुझे इसे हासिल करने में काफी समय लग गया, लेकिन इस बार मैं विकेट नहीं कर रही थी, बस अपने खेल पर ध्यान दे रही थी.’ झूलन गोस्वामी ने प्रति ओवर औसतन 3.23 रन देकर 166 वनडे मैचों में 200 विकेट लिए हैं.


‘कराची में चीन के नागरिक की हत्या के पीछे भारत का हाथ हो सकता है.’

— एहसान इकबाल, पाकिस्तान के गृहमंत्री

पाकिस्तानी गृहमंत्री एहसान इकबाल का यह बयान सोमवार को कराची में चीन के नागरिक की हत्या को पाकिस्तान-चीन संबंधों को खराब करने की कोशिश बताते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘हमारे पड़ोसी देश के नेता आधिकारिक तौर पर कह चुके हैं कि भारत, पाकिस्तान और चीन के बीच गहरे व्यापारिक रिश्तों के खिलाफ है.’ एहसान इकबाल ने कराची में चीनी नागरिक की हत्या जासूसी से भी जोड़ दिया, जिसके लिए पाकिस्तान भारत पर आरोप लगाता रहा है. पिछले दिनों चीन-पाकिस्तान इकॉनॉमिक कॉरीडोर (सीपीईसी) से जुड़े कुछ चीनी नागरिकों की हत्या हो चुकी है.