अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (आईसीसी) ने इंदिरा नूई को आईसीसी बोर्ड में स्वतंत्र निदेशक नियुक्त करने की घोषणा की है. यह घोषणा शुक्रवार को की गई. पेप्सिको की अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) इंदिरा नूई आईसीसी बोर्ड के इस पद पर नियुक्त होने वाली पहली महिला भी हैं. बोर्ड में उनका कार्यकाल इसी साल जून से शुरू होगा.

इस बारे में आईसीसी के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने कहा है, ‘व्यापार जगत में इंदिरा नूई प्रभावशाली और जाने-पहचाने चेहरों में से एक हैं और उनके बोर्ड में शामिल होने से संस्थान के संचालन में सुधार होगा.’ वहीं इस पद पर नियुक्ति पर इंदिरा नूई ने खुशी जताई है और कहा है, ‘पहली महिला निदेशक के तौर पर आईसीसी के साथ जुड़ते हुए मैं बेहद उत्साहित हूं. मुझे किक्रेट खूब पसंद है. अपनी किशोरावस्था और कॉलेज के दिनों में इस खेल को मैंने खेला भी है. आदर और टीम भावना जैसी अनेक बातें इस खेल से सीखने को मिलती हैं.’

पिछले साल जून में हुई आईसीसी की एक बैठक में स्वतंत्र निदेशक के तौर पर एक महिला को शामिल करने का फैसला किया गया था. इस विचार के पीछे क्रिकेट को दुनिया के कोने-कोने और बड़ी आबादी तक पहुंचाने का लक्ष्य था. आईसीसी में स्वतंत्र निदेशक की नियुक्ति दो वर्षों के लिए की जाती है. इसके बाद दो बार उनका कार्यकाल बढ़ाया जा सकता है. यानी एक स्वतंत्र निदेशक अधिकतम छह वर्षों के लिए आईसीसी को अपनी सेवाएं दे सकता है.