नौकरी का गलत फायदा उठाने वाले कर्मचारियों के खिलाफ रेलवे सख्त कदम उठाने की तैयारी में है. खबर है कि उसने अनाधिकारिक रूप से लंबी छुट्टी पर गए 13,000 से ज्यादा कर्मचारियों को अनुशासनात्मक कार्रवाई के तहत नौकरी ने बर्खास्त करने की तैयारी शुरू कर दी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शीर्ष अधिकारियों से कहा था कि वे लंबे समय तक गैरहाजिर रहने वाले रेलवे कर्मचारियों की पहचान करने के लिए बड़ी मुहिम चलाएं. इसके बाद रेलवे ने कार्रवाई की शुरुआत की. इस दौरान पाया गया कि 13,000 से ज्यादा कर्मचारी बिना पूछे लंबे वक्त से गायब हैं.

रेलवे की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, ‘ऐसे कर्मियों को बर्खास्त करने के लिए रेलवे ने नियमों के तहत अनुशासनात्मक कार्रवाई की शुरुआत कर दी है.’ बयान के मुताबिक रेलवे ने सभी अधिकारियों और निरीक्षकों को निर्देश दिए हैं कि वे प्रक्रिया का पालन करते हुए इन कर्मचारियों की सेवा समाप्त करें. बयान में यह भी कहा गया है कि रेलवे का प्रदर्शन बेहतर करने और मेहनती कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाने के लिए रेल मंत्रालय ने एक अभियान शुरू किया था. यह कार्रवाई उसी अभियान का हिस्सा है.