पाकिस्तान का कहना है कि कुलभूषण जाधव मामले में उसकी तरफ से किए गए सवालों का भारत ने अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है. शुक्रवार को उसने बताया कि उसने कुलभूषण जाधव के पासपोर्ट और उनकी नौकरी से संबंधित विवरण मांगा था. पाकिस्तानी विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने कहा कि गिरफ्तार किए जाते समय कुलभूषण जाधव भारतीय नेवी में काम कर रहे थे. फैजल ने दावा किया कि जाधव ने पाकिस्तान में हुए कई आतंकी हमलों में भूमिका होने की बात स्वीकार की है.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक फैजल ने कहा, ‘यह अफसोस की बात है कि भारत ने अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं दिया है कि कुलभूषण जाधव के पास हुसैन मुबारक पटेल का पासपोर्ट कैसे था. न ही भारत ने उनके नेवी से सेवानिवृत्त होने की कोई जानकारी दी है.’ पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने पिछले साल अप्रैल में जासूसी करने और आतंकवाद फैलाने के आरोप में जाधव को फांसी की सजा सुनाई थी. इसके बाद मई में नीदरलैंड स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत ने उनकी सजा पर रोक लगा दी थी.