जम्मू-कश्मीर में सेना के कैंप पर आतंकी हमले के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला ने पाकिस्तान को सख्त चेतावनी दी है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शनिवार को उन्होंने कहा, ‘एक भी ऐसा दिन नहीं बीत रहा जब भारत में आतंकी हमले न होते हों. सारे आतंकी पाकिस्तान से आते हैं. अगर पाकिस्तान भारत के साथ शांतिपूर्ण संबंध चाहता है तो उसे आतंकवाद का रास्ता छोड़ना होगा. नहीं तो भारत के पास उसके खिलाफ युद्ध के अलावा कोई रास्ता नहीं बचेगा.’

हालांकि, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला ने युद्ध को दोनों देशों के लिए विनाशकारी बताया. उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद का रास्ता छोड़कर भारत से बातचीत शुरू करनी चाहिए. फारुख अब्दुल्ला का यह भी कहना था कि दोनों देशों की सरकारों के सामने अपने विवादित मुद्दों को सुलझाने के लिए बातचीत ही एकमात्र रास्ता है.

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने शनिवार को सुंजवां स्थित सेना के कैप को निशाना बनाया है. इसमें सेना के दो जूनियर कमीशंड ऑफीसर शहीद हो गए हैं. इसके अलावा छह लोग घायल भी हुए हैं.