भारत-पाकिस्तान के बीच रिश्ते चाहे जैसे हों लेकिन दोनों देशों के क्रिकेटरों की दोस्ती का सिलसिला आगे बढ़ता रहता है. मसलन- भारतीय कप्तान विराट कोहली और पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद आफ़रीदी की दोस्ती. आफ़रीदी ने इस रिश्ते को लेकर कहा भी है, ‘विराट के साथ मेरे संबंध भारत-पाकिस्तान के सियासी हालात के हिसाब से नहीं चलते.’

सेंट मॉरिज़ आइस क्रिकेट टूर्नामेंट से इतर मीडिया से बात करते हुए आफ़रीदी ने कहा, ‘विराट बेहतरीन इंसान हैं और क्रिकेट में मेरी तरह अपने देश के दूत (एंबेसडर) भी. वे मेरे फाउंडेशन (शाहिद आफ़रीदी फाउंडेशन) की बहुत इज़्ज़त करते हैं. कई बार दायरे से बाहर जाकर मदद भी करते हैं. उन्होंने मेरे फाउंडेशन को अपने दस्तख़त वाली जर्सी भी दी है.’ बताते चलें कि शाहिद आफ़रीदी फाउंडेशन लोगों को साफ-सुरक्षित पीने का पानी मुहैया कराने के लिए काम करता है.

आफ़रीदी ने कहा, ‘मैं जब भी विराट से बात करता हूं वे बड़ी गर्मजोशी से ज़वाब देते हैं. हालांकि हमारे बीच ज़्यादा बात नहीं होती पर बीच-बीच में होती रहती है. एक-दूसरे के बीच संदेशों की आवाज़ाही भी होती रहती है. हाल में जब मुझे उनकी शादी के बारे में पता चला तो मैंने उन्हें मुबारकबाद देने के लिए फोन किया था. मुझे लगता है कि एक क्रिकेटर के तौर पर हम एक मिसाल पेश कर सकते हैं कि दो मुल्कों के बीच रिश्ते कैसे होने चाहिए या किस तरह के हो सकते हैं.’

आफ़रीदी ने कोहली की कप्तानी और उनकी आक्रामकता की भी तारीफ़ की. उन्हाोंने कहा, ‘विराट बेहतरीन काम (बतौर कप्तान) कर रहे हैं. और जहां तक उनकी आक्रामकता का सवाल है तो जब तक वह नियंंत्रित है उसमें मुझे कोई दिक्कत नहीं लगती. आप किसी का मूल स्वभाव बदल नहीं सकते. उनका स्वभाव महेंद्र सिंह धोनी से अलग है. धोनी शांत चित्त वाले इंसान हैं. विराट की सबसे अच्छी बात ये है कि वे टीम को आगे ले जाने की पूरी क्षमता रखते हैं.’