रोहिंग्या मुसलमानों का उत्पीड़न क्षेत्रीय टकराव पैदा कर सकता है : संयुक्त राष्ट्र | सोमवार, 05 फरवरी 2018

संयुक्त राष्ट्र ने म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों की स्थिति को लेकर फिर चिंता जताई है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त जैद राद अल हुसैन ने कहा कि म्यांमार के रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ ‘नरसंहार और जातीय सफाए’ जैसी संभावित कार्रवाई धर्म आधारित टकराव को जन्म दे सकती है. उनके मुताबिक यह टकराव देश के बाहर भी फैल सकता है.

रिपोर्ट के मुताबिक इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त जैद राद अल हुसैन ने कहा, ‘म्यांमार बहुत गंभीर संकट का सामना कर रहा है जिसका क्षेत्रीय सुरक्षा पर गंभीर असर हो सकता है.’ उन्होंने आगे कहा कि म्यांमार सामाजिक आर्थिक विकास के साथ तेजी से आगे बढ़ रहा है, लेकिन यह अल्पसंख्यकों के खिलाफ जारी ‘संस्थानिक भेदभाव’ को नहीं छिपा सकता. जैद राद अल हुसैन का यह बयान बीते हफ्ते म्यांमार के रखाइन राज्य में रोहिंग्या मुसलमानों की सामूहिक कब्रें मिलने के बाद आया.

राजीव गांधी की हत्या न हुई होती तो क्या कश्मीर समस्या का समाधान हो गया होता? | मंगलवार, 06 फरवरी 2018

भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और तत्कालीन प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो कश्मीर समस्या के शांतिपूर्ण समाधान के लिए तैयार हो गए थे. लेकिन ऐसा मुमकिन होने से पहले ही राजीव गांधी की हत्या कर दी गई. यह दावा पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और बेनजीर भुट्टो के पति आसिफ अली जरदारी ने किया है.

सोमवार को लाहौर में कश्मीर रैली को संबोधित करते हुए जरदारी ने कहा कि 1990 में दोनों नेता ऐसा करने के लिए तैयार थे. तब राजीव गांधी ने बेनजीर भुट्टो से कहा था कि बीते दस वर्षों में जनरल जिया सहित किसी अन्य नेता ने इस मुद्दे भारत से बात नहीं की थी और वे सत्ता में आने के बाद इस पर पाकिस्तान के साथ चर्चा करेंगे. लेकिन इससे पहले ही 1991 में राजीव गांधी की हत्या हो गई. जरदारी ने यह भी कहा कि कश्मीर समस्या के समाधान के लिए पूर्व राष्ट्रपति जनरल (सेवानिवृत्त) परवेज मुशर्रफ के पास भी एक योजना थी. लेकिन उस पर सेना के दूसरे जनरल सहमत नहीं हुए.

अमेरिका : एलन मस्क की कार साथ लेकर गए दुनिया के सबसे शक्तिशाली रॉकेट की परीक्षण उड़ान सफल | बुधवार, 07 फरवरी 2018

अंतरिक्ष रॉकेट बनाने वाली अमेरिकी कंपनी स्पेसएक्स ने एक और मील का पत्थर अपने नाम कर लिया है. उसने दुनिया के सबसे शक्तिशाली रॉकेट ‘फैल्कन हेवी’ की पहली परीक्षण उड़ान को सफलता के साथ अंजाम दिया. मंगलवार को फ्लोरिडा स्थित केनेडी स्पेस सेंटर से इस विशाल रॉकेट को छोड़ा गया. रॉकेट के साथ कंपनी के मालिक एलन मस्क की कार टेस्ला रोडस्टर को भी अंतरिक्ष में भेजा गया. करीब 23 मंजिला इमारत जितना ऊंचा फैल्कन हेवी अपने साथ करीब 63 हजार किलो वजन (पेलोड) ले जा सकता है. उसकी यह क्षमता अमेरिका के मौजूदा सबसे बड़े रॉकेट डेल्टा 4 हेवी से दोगुनी है. (विस्तार से)

अमेरिका जल्दी ही उत्तर कोरिया पर अब तक के सबसे कड़े प्रतिबंध लगाएगा : माइक पेंस | गुरूवार, 08 फरवरी 2018

अमेरिका ने उत्तर कोरिया को नई चेतावनी दी है. बुधवार को वहां के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा कि अमेरिका जल्दी ही उत्तर कोरिया के खिलाफ अब तक के सबसे सख्त प्रतिबंधों की घोषणा करेगा. माइक पेंस इस समय जापान के दौरे पर हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा, ‘मैं आज ऐलान करता हूं कि अमेरिका बहुत जल्द उत्तर कोरिया पर सबसे सख्त और आक्रामक आर्थिक प्रतिबंध लगाएगा.’

उपराष्ट्रपति माइक पेंस के मुताबिक उनका देश जापान के साथ मिल कर उत्तर कोरिया पर दबाव बनाता रहेगा. पेंस ने कहा, ‘हमारे सामने सभी विकल्प हैं. अमेरिका ने अपने कुछ सबसे अत्याधुनिक सैन्य उपकरण जापान और कोरियाई प्रायद्वीप में तैनात किए हैं. हम ऐसा करते रहेंगे.’

मालदीव के द्वीपों पर चीन कब्जा कर रहा है, भारत दखल देकर मदद करे : मोहम्मद नशीद | शुक्रवार, 09 फरवरी 2018

मालदीव के निर्वासित राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने भारत से एक बार फिर मदद का हाथ आगे बढ़ाने का आग्रह किया है. उन्होंने इसके लिए अब दो अलग वजहें गिनाई हैं. द टाइम्स आॅफ इंडिया से बातचीत में नशीद ने कहा है कि मालदीव में इस्लामिक कट्टरवाद और चीन का हतस्तक्षेप व्यापक स्तर पर बढ़ गया है और ऐसे में द्वीप को इन दोनों से मुक्ति दिलाने के लिए भारत को अपनी तरफ से दखल देना चाहिए.

मोहम्मद नशीद के अनुसार चीन ने मालदीव में 40 मिलियन डॉलर के निवेश की बात की है. लेकिन उनके मुताबिक निवेश की आड़ में चीन वहां के करीब 17 द्वीपों पर कब्जा जमा चुका है. इसके अलावा नशीद ने आतंकवाद के मोर्चे पर भारत की चिंता बढ़ाने वाली भी एक बात कही है. उन्होंने कहा है कि इस्लामिक कट्टरता बढ़ने से मालदीव के कई लोग जिहादी बनने के लिए सीरिया और ईराक देशों की ओर रुख कर गए थे. लेकिन जैसे-जैसे आईएस का खात्मा हुआ ये लोग लौट आए. उनके मुताबिक मालदीव लौटने के बाद ऐसे लोग स्थानीय पुलिस और रक्षा सेवाओं में भर्ती हो गए हैं जो देश के लिए खतरनाक हो सकता है. (विस्तार से)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिलिस्तीन का सर्वोच्च सम्मान | शनिवार, 10 फरवरी 2018

खाड़ी देशों की चार दिवसीय यात्रा के दौरान शनिवार को प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी फिलिस्तीन के रामल्ला पहुंचे जहां फिलिस्तीन के प्रधानमंत्री रामी हमदल्ला ने उनकी अगवानी की है. रामल्ला पहुंचने के बाद मोदी ने कहा, ‘यह एक ऐतिहासिक यात्रा है जो भारत और फिलिस्तीन को और करीब लाएगी.’ नरेंद्र मोदी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने पश्चिम एशिया के इस देश की यात्रा की है.

हमदल्ला के बाद फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास भी मोदी से मुलाकात के लिए पहुंचे. गार्ड आॅफ आॅनर के बाद अब्बास ने भारतीय प्रधानमंत्री को ‘ग्रैंड कॉलर आॅफ द स्टेट आॅफ फिलिस्तीन’ सम्मान से नवाजा. यह फिलिस्तीन की तरफ से विदेशी नेताओं को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है. (विस्तार से)