पकौड़े बेचना भीख मांगने से बेहतर है : अमित शाह | सोमवार, 05 फरवरी 2018

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि पकौड़े बेचना भीख मांगने से बेहतर है. उन्होंने यह बात राज्यसभा में कही. कुछ समय पहले एक साक्षात्कार में रोजगार से जुड़े एक सवाल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि पकौड़े बेचना भी रोजगार है. इसके बाद कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा था कि अगर पकौड़े बेचना रोजगार है तो यही बात भीख मांगने के लिए भी कही जा सकती है.

अमित शाह का बयान इसी का जवाब माना जा रहा है. उन्होंने कहा कि बेरोजगारी से तो अच्छा है कि कोई युवा पकौड़े बना कर अपनी आजीविका चलाए. उन्होंने कहा, ‘करोड़ों युवा जो छोटे-छोटे स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, पकौड़ा बना रहे हैं, उसकी आप भिखारी के साथ तुलना करेंगे. यह किस प्रकार की मानसिकता है. पकौड़ा बनाना कोई शर्म की बात नहीं है. इसकी भिखारी के साथ तुलना करना शर्मनाक बात है. कोई बेरोजगार पकौड़ा बना रहा है. उसकी दूसरी पीढ़ी आगे आएगी. कोई बड़ा उद्योगपति बनेगी. एक चायवाला पीएम बनकर इस सदन में बैठा है.’ अमित शाह के इस पहले भाषण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सदन में मौजूद थे.

यह ख़बर बताती है कि सत्ता-शक्ति का केंद्र होना मानद उपाधि हासिल करने में कैसे मददग़ार होता है | मंगलवार, 06 फरवरी 2018

अगर आपको किसी विश्वविद्यालय से मानद उपाधि चाहिए तो सत्ता-शक्ति का केंद्र होना आपके लिए मददग़ार हो सकता है. सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत हासिल जानकारी के हवाले से प्रकाशित एक ख़बर से यह बात ज़ाहिर हुई है.

द इंडियन एक्सप्रेस ने देश के 470 सरकारी विश्वविद्यालयों में आरटीआई लगाकर 1997 से 2017 के बीच जिन-जिन लोगों को मानद डॉक्ट्रेट या इसी तरह की अन्य उपाधियां दी गईं, उनके बारे में जानकारी मांगी थी. इससे पता चला कि इनमें 160 संस्थानों ने क़रीब 1,400 लोगों को इस अवधि में 2,000 के आसपास मानद उपाधियां दी हैं. वहीं 126 संस्थानों ने कोई उपाधि नहीं दी. 184 ने आरटीआई का ज़वाब ही नहीं दिया. (विस्तार से)

कार बेचकर रजिस्ट्रेशन ट्रांसफर नहीं किया तो दुर्घटना होने पर हर्ज़ाना पहला मालिक भरेगा : कोर्ट | बुधवार, 07 फरवरी 2018

कार बेचकर अगर उसका रजिस्ट्रेशन अगले मालिक के नाम पर ट्रांसफर नहीं किया गया है तो दुर्घटना होने की स्थिति में हर्ज़ाना पहले मालिक को भरना होगा. सुप्रीम कोर्ट ने कार दुर्घटना से जुड़े एक मामले में यह व्यवस्था दी है.

द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक़ मामला विजय कुमार नाम के एक शख़्स से जुड़ा है. उसने 12 जुलाई 2007 को अपनी कार एक व्यक्ति को बेची. उस व्यक्ति ने 18 सितंबर 2008 को वह कार किसी तीसरे को बेच दी. फिर तीसरे मालिक ने उसे नवीन कुमार नाम के व्यक्ति को बेच दिया. नवीन कुमार ने भी वह कार मीर सिंह को बेच दी. इसी बीच कार दुर्घटना का शिकार हो गई जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और दूसरा घायल हो गया. (विस्तार से)

सुप्रीम कोर्ट ने सहारा की एंबी वैली को टुकड़ों में बेचने की मंजूरी दी | गुरूवार, 08 फरवरी 2018

सुप्रीम कोर्ट ने सहारा समूह की एंबी वैली परियोजना को टुकड़ों में बेचने की इजाजत दे दी है. इससे पहले अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस परियोजना की दो बार नीलामी की कोशिश की गई थी लेकिन, यह असफल रही. बुधवार को एंबी वैली के लिक्विडेटर और रिसीवर ने सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस दीपक मिश्रा, रंजन गोगोई और एके सीकरी की बेंच के समक्ष इस परियोजना को टुकड़ों में बांटकर बेचने का प्रस्ताव रखा. उन्होंने यह भी कहा कि महिंद्रा लाइफस्पेस और पीरामल ग्रुप एंबी वैली का कुछ हिस्सा खरीदने के इच्छुक हैं. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने अपनी सहमति दे दी. एंबी वैली मुंबई और पुणे हाईवे पर स्थित सैकड़ों हेक्टेयर जमीन पर फैली हुई लग्जरी परियोजना है जिसकी कीमत 40 हजार करोड़ रु से भी ज्यादा बताई जाती है.

तीन सदस्यीय बेंच को रिसीवर की तरफ से यह जानकारी भी दी गई कि एंबी वैली में स्कूल, गोल्फ कोर्स, होटल और रेस्तरां भी मौजूद हैं. उन्होंने बताया कि इन अचल संपत्तियों के अलावा वहां कार और सैकड़ों अन्य वाहनों के तौर पर चल संपत्तियां भी हैं जिनकी नीलामी से पैसा जुटाया जा सकता है. रिसीवर के मुताबिक फिलहाल इन सभी चल और अचल संपत्तियों की पहचान की जा रही है और इनकी सूची मार्च के अंत तक तैयार कर ली जाएगी.

उत्तर प्रदेश : एक और पुलिस स्टेशन भगवा रंग से रंगा गया | शुक्रवार, 09 फरवरी 2018

उत्तर प्रदेश में सरकारी इमारतों को भगवा रंग से रंगा जाना जारी है. ताजा मामले में राजधानी लखनऊ के गोमती नगर इलाके के पुलिस स्टेशन पर भगवा रंग चढ़ा दिया गया है. यह लखनऊ का सबसे पॉश इलाका माना जाता है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस पुलिस स्टेशन के परिसर में एक मंदिर के निर्माण के साथ उसके भी भगवाकरण काम शुरू हो चुका है.

उत्तर प्रदेश में किसी पुलिस स्टेशन को भगवा रंग से रंगे जाने का यह दूसरा मामला है. इससे पहले बीती जनवरी में कैसर बाग पुलिस स्टेशन को भगवा कर दिया गया था. जनवरी में ही हज कमेटी के कार्यालय की दीवारों को भगवा कर दिया गया था. इस पर काफी विवाद भी हुआ था. विपक्षी दलों और उलेमाओं के विरोध के बाद अगले दिन फिर से कार्यालय की दीवारों पर सफेद रंग चढ़ा दिया गया था.

जम्मू-कश्मीर विधानसभा में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगे | शनिवार, 10 फरवरी 2018

जम्मू-कश्मीर की विधानसभा में नेशनल कॉन्फ्रेंस के विधायक अकबर लोन द्वारा पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी करने का मामला सामने आया है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार शनिवार को सेना के कैंप पर हमले के बाद विधानसभा अध्यक्ष कवींद्र गुप्ता ने कुछ कहा, जिसके बाद भाजपा विधायकों ने पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी शुरू कर दी. इस बीच नेशनल कॉन्फ्रेंस के विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष से उनकी टिप्पणी के लिए माफी की मांग करने लगे. लेकिन इस दौरान भाजपा विधायकों की पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी और तेज हो गई. रिपोर्ट के मुताबिक इसी से नाराज होकर विधायक अकबर लोन अपनी सीट पर खड़े हो गए और पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने लगे.

बाद में विधानसभा के बाहर विधायक अकबर लोन ने कहा कि उन्होंने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा भाजपा विधायकों की प्रतिक्रिया में लगाया था. उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष पर मुसलमानों से नफरत करने का भी आरोप लगाया. अकबर लोन ने कहा, ‘विधानसभा अध्यक्ष कवींद्र गुप्ता का बयान उनकी सोच को जाहिर करता है.’

जम्मू-कश्मीर : सुंजवान हमले में सेना के 5 जवान शहीद, 4 आतंकी ढेर | रविवार, 11 फरवरी 2018

जम्मू के सुंजवान आर्मी कैंप पर हमला करने वाले आतंकियों के खिलाफ सेना का अभियान जारी है. अब तक इस हमले में 5 जवान शहीद हुए हैं, जबकि 11 लोगों के घायल होने की खबर है. हमले में सेना के एक शहीद जवान के पिता की भी मौत हुई है. स्थानीय पुलिस ने बताया है कि सेना को अब तक चार आतंकियों को मार गिराने में सफलता मिली है.

उधर, इस हमले पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘सेना आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दे रही है, अभी कोई भी टिप्पणी करना ठीक नहीं होगा. हमें सेना पर पूरा भरोसा है.’ शनिवार तड़के जम्मू स्थित सुंजवान सैन्य शिविर पर कुछ आतंकियों ने हमला कर दिया था. आतंकी सैन्य शिविर में पीछे वाले हिस्से से दाख़िल हुए थे जहां फैमिली क्वार्टर्स बने हैं.