पश्चिम एशिया के तीन देशों के दौरे के तहत रविवार को ओमान पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहां रह रहे भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया. ओमान की राजधानी मस्कट स्थित सुल्तान काबूस स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, ‘मेरी सरकार पर कोई भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा सकता.’ प्रधानमंत्री के मुताबिक उन्होंने इस बात को सुनिश्चित किया कि लोगों ने उनमें जो विश्वास दिखाया उसे कोई ठेस न पहुंचे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान को कांग्रेस द्वारा राफेल डील को लेकर लगाए जा रहे आरोपों के लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा रहा है. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों में जिन लोगों को करदाताओं के पैसे से धोखाधड़ी होने के बाद सफाई देनी पड़ती थी वे उनकी सरकार से पूछ रहे हैं कि सरकारी खजाने से कितना पैसा गया. प्रधानमंत्री ने दावा किया कि उनकी सरकार की नीतियों से देश को अब तक एक लाख 40 हजार करोड़ रुपये की बचत हुई है.

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय समुदाय के हजारों लोगों को अपनी सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया और कहा कि भारत में बदलाव की हवा चल रही है. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत प्रगति के रास्ते पर तेजी से बढ़ रहा है. उनका यह भी कहना था कि आने वाले वक्त में कुछ बड़े बदलाव दिखेंगे. प्रधानमंत्री मोदी ने भौगोलिक दृष्टि से ओमान को भारत का सबसे नजदीकी खाड़ी देश बताया. उन्होंने ओमान और भारत के बीच हजारों साल पुराने रिश्ते का जिक्र करते हुए खाड़ी देशों के साथ अच्छे संबंधों को और मजबूत करने की वकालत की. पश्चिम एशिया के तीन देशों के दौरे के आखिरी दिन यानी आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मस्कट स्थित प्राचीन शिव मंदिर का दौरा करेंगे.

मस्कट से पहले प्रधानमंत्री संयुक्त अरब अमीरात पहुंचे. वहां उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई और रक्षा सहयोग में मजबूत साझेदारी की बात दोहराई. इसके तहत भारतीय नौसेना जल्द ही खाड़ी देशों के साथ अभ्यास करेगी. दुबई में वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में बोलते हुए मोदी ने उचित विकास के लिए तकनीक को अपनाने की नीति पर जोर दिया. वे यूएई के उप-राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और शासक रशीद अल मकतूम से भी मिले. दोनों ने नेताओं ने साझा बयान देते हुए कहा कि उनकी सरकारें आतंकवाद से निपटने में सहयोग करेंगी.