जम्मू-कश्मीर में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने अपने एक कैंप पर हुए आतंकी हमले को विफल कर दिया है. ये हमला सोमवार को श्रीनगर करननगर स्थित कैंप पर हुआ. आतंकियों और पुलिस के जवानों के बीच हुई गोलीबारी में एक कॉन्स्टेबल घायल हो गया.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक सीआरपीएफ के प्रवक्ता ने बताया कि सुबह चार बजे के आसपास एक गार्ड ने हथियारबंद दो लोगों को कैंप की तरफ आते देखा था. उन्होंने बताया कि गार्ड ने दोनों लोगों पर फायर किया जिसके चलते हथियारबंद दोनों व्यक्ति वहां से भाग निकले. इसके बाद तलाशी अभियान के दौरान एक इमारत के नजदीक दोनों तरफ से गोलीबारी हुई. प्रवक्ता ने बताया कि आतंकी कैंप में नहीं घुस पाए, इसलिए वे नजदीक की इमारतों में जाकर छुप गए. प्रवक्ता के मुताबिक गोलीबारी अभी भी जारी है.

उधर, जम्मू के सुंजवान स्थित सैन्य कैंप पर हुए आतंकी हमले को 51 घंटे से ज्यादा समय बीत चुका है. इस हमले में अब तक छह लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें सेना के पांच जवान और एक नागरिक शामिल हैं. सेना की जवाबी कार्रवाई में अब तक चार आतंकी मारे जा चुके हैं. गोलीबारी अभी भी जारी है.

इस बीच पाकिस्तान ने बयान जारी करते हुए हमले में खुद के शामिल होने के आरोपों को खारिज कर दिया. उसने कहा कि भारतीय मीडिया और अधिकारी जांच शुरू होने से पहले ही गैरजिम्मेदाराना बयान देने लगते हैं. बयान में पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता ने भारत पर आरोप लगाया कि वह पाकिस्तान को बदनाम करने और जानबूझकर युद्ध के लिए भड़काने का अभियान चलाता है.