सुप्रीम कोर्ट ने शोपियां फायरिंग मामले में मेजर आदित्य कुमार के खिलाफ जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर पर रोक लगा दी है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच ने मेजर आदित्य कुमार के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई न करने का भी निर्देश दिया है. इसके साथ इस मामले में दो हफ्ते के भीतर केंद्र और और राज्य सरकार से जवाब भी मांगा है.

सुप्रीम कोर्ट ने मेजर आदित्य कुमार के पिता लेफ्टिनेंट कर्नल कर्मवीर सिंह की याचिका पर सुनवाई करने के बाद यह निर्देश दिया. याचिका में कहा गया है कि मेजर आदित्य कुमार के खिलाफ दर्ज मामले का कोई कानूनी आधार नहीं है और राज्य की पुलिस ने उन्हें फर्जी तरीके से फंसाया है.

बीते महीने शोपियां में पथराव कर रही भीड़ पर सेना की एक टुकड़ी ने गोली चला दी थी, जिसमें तीन युवाओं की मौत हो गई थी. इसके बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सैन्य टुकड़ी और मेजर आदित्य कुमार के खिलाफ मामला दर्ज किया था. इसके जवाब में सेना ने भी एफआईआर दर्ज कराई थी और भीड़ पर पथराव के जरिए सैनिकों को उकसाने का आरोप लगाया था. वहीं, उत्तरी सैन्य कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबु ने सेना की फायरिंग को दुर्भाग्यपूर्ण बताया था. उन्होंने यह भी कहा था कि ऐसे मामलों में सामान्य एफआईआर दर्ज होती है, लेकिन इस मामले में अधिकारी का नाम शामिल किया गया है जो बचकाना है.