पाकिस्तान ने भारत को चेतावनी दी है कि वह सीमा पार सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कोई कोशिश न करे. उसने यह बात शनिवार को जम्मू-कश्मीर के सुंजवान में हुए आतंकवादी हमले के बाद कही. भारत ने इस हमले का आरोप पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद पर लगााया है.

सोमवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करके कहा कि किसी भी घटना की जांच पूरी हुए बिना ही भारतीय अधिकारी एक दिशा में आरोप लगाना शुरू कर देते हैं. बयान में कहा गया है, ‘भारत ऐसे आरोप इसलिए भी लगाता है ताकि कश्मीर में निर्दयता से दबाए जा रहे सशस्त्र विद्रोह के मुद्दे से वह ध्यान भटका सके.’ बयान में आगे कहा गया है, ‘हमें आशा है कि भारत की तरफ से कश्मीर हो रहे मानवाधिकार के उल्लंघन पर विश्व समुदाय ध्यान देगा और भारत को ऐसा करने से रोकने के लिए दबाव बनाएगा.’

शनिवार को सुंजवान कैंप पर हमले के बाद भारत ने हमलावर आतंकवादियों का ताल्लुक जैश-ए-मोहम्मद के साथ होने के आरोप लगाए थे. उस वक्त भी पाकिस्तान ने इसकी आलोचना करते हुए कहा था कि भारत बिना पूरी जांच-पड़ताल किए आरोप लगा रहा है. इस हमले में पांच जवान शहीद हो गए थे जबकि एक जवान के पिता की भी मौत हो गई थी.