इजरायल की पुलिस ने प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ रिश्वत का मामला चलाए जाने की सिफारिश की है. मंगलवार को पुलिस ने सार्वजनिक रूप से कहा कि उनके खिलाफ रिश्वत का मामला दर्ज किया जाना चाहिए. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पुलिस ने जो आरोप उन पर लगाए हैं वे दो आपराधिक मामलों की जांच से संबंधित हैं. खबर के मुताबिक यह अब इजरायल के अटॉर्नी जनरल को तय करना है कि नेतन्याहू के खिलाफ केस दर्ज किया जाए या नहीं.

एक मामले में बेंजामिन नेतन्याहू पर रिश्वत लेने, धोखा और विश्वासघात करने का आरोप लगाया गया है. पुलिस के बयान के मुताबिक हॉलीवुड के एक निर्माता और इजरायली नागरिक अरनोन मिलचैन और ऑस्ट्रेलियाई व्यवसायी जेम्स पैकर ने करीब एक दशक (2007 से 2016) तक बेंजामिन नेतन्याहू और उनके परिवार को कई तोहफे दिए. इनमें शैंपेन, सिगार और आभूषण के अलावा और भी चीजें शामिल थीं.

दूसरे मामले में बेंजामिन नेतन्याहू और एक इजरायली अखबार के प्रकाशक पर रिश्वत लेने, धोखा और विश्वासघात करने का आरोप है. पुलिस के मुताबिक दोनों व्यक्तियों ने कानूनी और अन्य तरीकों से एक प्रतिद्वंद्वी अखबार की प्रगति कम करने को लेकर बातचीत की थी. 2017 की शुरुआत से पुलिस ने इस मामले में नेतन्याहू से कई बार पूछताछ की है. हालांकि उन्होंने कुछ भी गलत करने के आरोप को खारिज कर दिया. पुलिस के आरोपों का जवाब देने के लिए बेंजामिन नेतन्याहूं ने टेलीविजन पर भाषण दिया. उन्होंने कहा कि उन पर लगाए गए आरोप निराधार हैं. भाषण के दौरान नेतन्याहू ने प्रधानमंत्री के रूप में अपना चौथा कार्यकाल पूरा करने बात भी कही.

इजरायल में नेताओं पर भ्रष्टाचार के मामले नई बात नहीं हैं. बीते साल ही 2006 से 2009 तक देश के प्रधानमंत्री रहे एहुद ओलर्मट जेल से बाहर आए हैं. भ्रष्टाचार के मामले में उन्हें 27 महीने जेल की सजा हुई थी