अमेरिकी खुफिया विभाग ने अंदेशा जताया है कि भारत और चीन के बीच खटास आने वाले दिनों में और बढ़ सकती है. बुधवार को दक्षिण एशियाई देशों के मामले में अमेरिकी खुफिया विभाग के प्रमुख डैन कोट्स ने कहा है, ‘भारत और चीन के आपसी संबंधों में जारी तनाव आगे भी बना रहेगा. साथ ही चीन अगर उकसावे की नीति पर काम करता है तो तनाव बढ़ने के साथ रिश्ते और बिगड़ सकते हैं.’

अमेरिकी खुफिया प्रमुख ने इस अंदेशे के पीछे बीते साल डोकलाम में दोनों देशों के बीच हुए टकराव का हवाला दिया है. तब इस इलाके में चीन द्वारा सड़क बनाने का विरोध करते हुए भारत ने सैनिक तैनात कर दिए थे और दोनों पक्षों की सेनाएं दो महीने तक आमने-सामने डटी रही थीं.

अमेरिकी खुफिया विभाग की तरफ से यह भी कहा गया है कि चीन कई मोर्चों पर भारत को उकसाने का काम कर रहा है. माना जा रहा है कि अमेरिका ने डोकलाम के अलावा बीते साल की ही एक और घटना के आधार पर यह बात कही है. दरअसल नवंबर में भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर गई थीं और इस पर चीन ने आपत्ति जताते हुए कहा था कि वह इस इलाके को भारत का हिस्सा नहीं मानता.