पंजाब नेशनल बैंक में करीब 11,500 करोड़ रु की फर्जीवाड़े की खबर आज सभी अखबारों के पहले पन्ने पर है. यह फर्जीवाड़ा उसकी मुंबई स्थित एक ब्रांच में हुआ. सार्वजनिक क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े इस बैंक के मुताबिक उसने इसकी खबर संबंधित जांच एजेंसियों को दे दी है. इसके अलावा, करीब 10 साल पहले हुई चर्चित बाटला हाउस मुठभेड़ के फरार एक संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किए जाने की खबर को भी अखबारों ने प्रमुखता से जगह दी है. जुनैद नाम के इस संदिग्ध आतंकी का संबंध इंडियन मुजाहिदीन से बताया जाता है. 15 लाख रु के इनामी जुनैद पर 2008 में दिल्ली में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में शामिल होने का आरोप है.

वायु प्रदूषण कम करने के लिए जर्मनी लोकल बस और ट्रेन में यात्रा को मुफ्त करेगा

जर्मनी ने वायु प्रदूषण को कम करने के लिए सार्वजनिक यातायात के साधनों से यात्रा पर कोई टिकट न वसूलने का फैसला किया है. दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक इस प्रयोग की शुरुआत बॉन सहित पांच शहरों से होगी. इन शहरों के लोग बसों और ट्रेनों में मुफ्त सफर कर सकेंगे. इसका मकसद यह है कि वे अपने वाहनों से ज्यादा सार्वजनिक परिवहन को प्राथमिकता दें. बताया जा रहा है कि यह पहले जुलाई के बाद शुरू होगी. दिलचस्प बात यह है कि बुधवार को इन शहरों में वायु की गुणवत्ता का औसत स्तर दिल्ली के मुकाबले नौ गुना बेहतर रहा. फिर भी जर्मनी को चिंता सता रही है. दूसरी खास बात यह है कि जर्मनी दुनिया का चौथा सबसे बड़ा वाहन उत्पादक देश है जिसे देखते हुए उसकी यह पहल और भी असाधारण हो जाती है.

सेना का एक और अधिकारी ‘हनीट्रैप’ में फंसा

आईएसआई के ‘हनीट्रैप’ में सेना के एक और अधिकारी के फंसने का मामला सामने आया है. हिन्दुस्तान की खबर के मुताबिक यह अधिकारी एक लेफ्टिनेंट कर्नल है और जबलपुर में तैनात है. बताया जा रहा है कि उसे आईएसआई के लिए काम करने वाली एक महिला ने अपने जाल में फंसा लिया और उससे कई संवेदनशील जानकारियां हासिल कर लीं. बताया जा रहा है कि उसके खाते में बड़ी रकम का लेन-देन भी हुआ है. फिलहाल इस अधिकारी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. हाल ही में वायुसेना के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह के भी इसी तरह से आईएसआई के हनीट्रैप में फंसने का मामला सामने आया था.

जन-धन योजना के तहत खुले खातों में से आधे से ज्यादा महिलाओं के नाम

वित्तीय समावेशन के मोर्चे पर यह अच्छी खबर है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत खुले बैंक खातों में से आधे से ज्यादा महिलाओं के हैं. इन खातों में लेन-देन भी हो रहा है. एक सर्वे में यह बात सामने आई है. इस सर्वे में यह भी पता चला कि 201502017 के दौरान इस लेन-देन में 200 फीसदी बढ़ोतरी हुई है. मोदी सरकार की इस योजना का उद्देश्य गरीबों तक भी बैंक सुविधाएं पहुंचाना था. साथ ही इसका मकसद यह भी था कि सरकारी योजनाओं का लाभ उन तक सीधे पहुंचे.

बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के मामले में रतन टाटा का भी नाम उछला

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के चर्चित मामले में भारतीय कारोबार जगत के दिग्गज नाम रतन टाटा का नाम भी उछल रहा है. अमर उजाला की खबर के मुताबिक इजरायली मीडिया में आ रही खबरों में कहा जा रहा है कि रतन टाटा ने वहां एक अरबपति कारोबारी के साथ मिलकर इजरायल-जॉर्डन सीमा पर एक मुक्त व्यापार क्षेत्र बनाने की परियोजना पर काम किया और इजरायली सरकार ने सुरक्षा से जुड़ी चिंताओं की अनदेखी करते हुए इसकी मंजूरी दी. उधर, टाटा ने इस खबर को बेबुनियाद बताया है. भारत स्थित टाटा के कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया है कि रतन टाटा की इजरायली अधिकारियों के साथ बैठक जरूर हुई थी पर उसका मुद्दा अलग था.