दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. उन पर सरकारी धन के दुरुपयोग और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का आरोप था. इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के सत्तारूढ़ दल अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस (एएनसी) ने सोमवार को उनसे इस्तीफा देने को कहा था. हालांकि तब उन्होंने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया था. इसके बाद एएनसी ने कहा कि अगर वे पद से इस्तीफा नहीं देते तो संसद में बृहस्पतिवार को उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा.

एएनसी और जैकब जुमा के बीच चल रही तनातनी इससे पहले कि कोई नया मोड़ लेती, जैकब जुमा ने इस्तीफा देने की घोषणा कर दी. अपने विदाई संबोधन में उन्होंने कहा, ‘मैं तुरंत प्रभाव से राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देता हूं. हालांकि मैं पार्टी के निर्णय से सहमत नहीं हूं. लेकिन मैं यह भी नहीं चाहता कि मैं एएनसी के विभाजन का कारण बनूं.’ जैकब जुमा का कार्यकाल 2019 तक चलना था.

एएनसी ने अब सिरिल रैमाफोसा को राष्ट्रपति पद के लिए चुना है. रैमाफोसा को बीते साल दिसंबर में एएनसी का अध्यक्ष भी बनाया गया था. उसके बाद से ही जैकब जुमा की परेशानियां बढ़ने की अटकलें लगने लगी थीं.