पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 11,400 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े का मामला सामने आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कार्रवाई शुरू कर दी है. उसने इस मामले से जुड़े 280 करोड़ रुपये के अवैध लेन-देन के आरोपित हीरा व्यापारी नीरव मोदी के कई ठिकानों पर छापेमारी की है.

हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबिक ईडी ने नीरव मोदी के मुंबई स्थित कुर्ला इलाके के घर में छापेमारी की है. काला घोड़ा इलाके में नीरव मोदी का ज्वैलरी बुटीक है. वहां भी ईडी ने छापेमारी की है. इसके अलावा बांद्रा और लोवर पारेल में नीरव मोदी की कंपनी के तीन ठिकानों पर रेड मारी गई है. वहीं, गुजरात के सूरत स्थित तीन ठिकानों और दिल्ली के चाणक्यपुरी व डिफेंस कॉलोनी के शोरूमों पर भी ईडी के अधिकारियों ने कार्रवाई की है.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि इस मामले में सीबीआई द्वारा दायर की गई एफआईआर के बाद ईडी ने भी धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है. पिछले साल पीएनबी से 280.70 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में सीबीआई ने नीरव मोदी, उनके भाई, पत्नी और व्यापारिक साझेदार के खिलाफ मामला दर्ज किया था. उसने इन लोगों के ठिकानों पर छापेमारी भी की थी. एक हफ्ता पहले ही जांचकर्ताओं ने बताया था कि वे इस मामले में नीरव मोदी और अन्य आरोपितों के खिलाफ जांच कर रहे हैं. इसके हफ्ते भर बाद ही 11400 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े की खबर आ गई. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से बात करते हुए एक अधिकारी ने बताया कि ये दोनों मामले जुड़े हुए हैं.

उधर, सीएनबीसी टीवी18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी ने अपनी कंपनी फायरस्टार डायमंड को बेचकर बैंकों की बकाया राशि चुकाने का प्रस्ताव दिया है. वहीं, इस घोटाले के सामने आने के बाद पीएनबी ने अपने दस अधिकारियों को निलंबित कर दिया था और इस मामले की सीबीआई से जांच कराने की सिफारिश की थी.