उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर अपराधियों का हमदर्द होने का आरोप लगाया है. उन्होंने प्रदेश के अपराधियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई जारी रखने की बात भी कही. पीटीआई के मुताबिक उत्तर प्रदेश विधान सभा में बृहस्पतिवार को एक प्रश्न का उत्तर देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘दुर्भाग्य से कुछ लोग अपराधियों से हमदर्दी जता रहे हैं. यह लोकतंत्र के लिए खतरनाक है. सभी जानते हैं कि कौन उनका सरपरस्त है.’

इस मौके पर आदित्यनाथ ने तीन फरवरी को नोएडा की घटना का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि जीतेंद्र यादव को गोली लगी थी, लेकिन वह एन्काउंटर नहीं था. मुखयमंत्री के मुताबिक पुलिस भी उसे एन्काउंटर के तौर पर नहीं देखती. बता दें कि उस रात नोएडा में एक एन्काउंटर की खबर आई थी. लेकिन बाद में पता चला था कि पुलिस ने अपराधी को नहीं बल्कि एक जिम ट्रेनर को गोली मार दी. गोली जीतेंद्र यादव नामक शख्स को लगी थी. पीड़ित के परिजनों ने इस मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की थी.

उत्तर प्रदेश में बीते मार्च में भारतीय जनता पार्टी सरकार बनने के बाद हुए 1200 से भी ज्यादा एन्काउंटरों में प्रदेश पुलिस ने 40 कुख्यात अपराधियों को मार गिराने दावा किया है. उधर, संगठित अपराध पर लगाम कसने के लिए प्रदेश सरकार ‘उत्तर प्रदेश कंट्रोल आॅफ आॅर्गेनाइज्ड क्राइम’ कानून भी लाई है. विधानसभा ने इसे अपनी मंजूरी दे दी है. वैसे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद ही योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों को सुधरने या फिर प्रदेश छोड़कर चले जाने की चेतावनी दे दी थी.