बॉलीवुड के बिग बी यानी अमिताभ बच्चन की पत्नी और पूर्व अभिनेत्री जया बच्चन इस बार तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के टिकट पर पश्चिम बंगाल से राज्य सभा में पहुंच सकती हैं. फिलहाल वे संसद के उच्च सदन में समाजवादी पार्टी (सपा) का प्रतिनिधित्व करती हैं. उन्हें सपा ने उत्तर प्रदेश से राज्य सभा में भेजा था.

सूत्रों के हवाले से द इंडियन एक्सप्रेस ने ख़बर दी है कि जया बच्चन को राज्य सभा में भेजने के बारे में टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी गंभीरता से विचार कर रही हैं. जया बच्चन का मौजूदा कार्यकाल तीन अप्रैल को ख़त्म हो रहा है. लिहाज़ा उनके बारे में बनर्जी मार्च के दूसरे पखवाड़े तक कोई घोषणा सकती हैं. टीएमसी के वरिष्ठ सदस्य इसकी पुष्टि करते हुए बताते हैं कि जया राज्य सभा के लिए पार्टी टिकट के दावेदाराें में सबसे आगे चल रही हैं.

ग़ौरतलब है कि राज्य सभा से अप्रैल में 58 सदस्यों का कार्यकाल पूरा हो रहा है. इनमें से 10 सीटें उत्तर प्रदेश से खाली होंगी. इनमें नौ सीटें भारतीय जनता पार्टी को जा सकती हैं. क्योंकि उत्तर प्रदेश विधानसभा में भाजपा के 312 सदस्य हैं. सपा को सिर्फ़ एक सीट मिल सकती है. ऐसे में जया बच्चन के लिए सपा के ही टिकट पर फिर राज्य सभा में पहुंचना शायद संभव न हो. इसीलिए टीएमसी उनके लिए भी एक बेहतर विकल्प हो सकता है.

टीएमसी के एक अन्य नेता की मानें तो, ‘हमारी चार सीटें खाली हो रही हैं. इनमें से दो पर नए चेहरों का आना तय माना जा सकता है. और जहां तक जया बच्चन का ताल्लुक़ है तो वे बंगाली मूल की हैं. पश्चिम बंगाल में वे आज भी बेहद लोकप्रिय चेहरा हैं. उनके पति अमिताभ बच्चन अक़्सर ही खुद को बंगाल का दामाद बताते हैं. अमिताभ और जया के ममता बनर्जी से ताल्लुक़ात भी अच्छे हैं. ऐसे में वे हमारे लिए एक आदर्श उम्मीदवार हो सकती हैं.’