बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले में जेल की सजा काट रहे राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को बड़ा झटका लगा है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार झारखंड हाई कोर्ट ने देवघर मामले में उनकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया है. लालू प्रसाद यादव ने अपनी याचिका में निचली अदालत के फैसले को चुनौती दी थी और जमानत देने की मांग की थी.

देवघर कोषागार मामले में रांची स्थित केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने लालू प्रसाद यादव साढ़े तीन साल की सजा सुनाई थी. यह मामला 1991 से 1994 के बीच देवघर कोषागार से 89.27 लाख रुपयों की अवैध निकासी से जुड़ा है. सीबीआई की विशेष अदालत ने इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा सहित सात लोगों को बरी कर दिया था.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव देवघर कोषागार मामले में फैसला आने के बाद से रांची स्थित बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं. उन्हें चारा घोटाले के दो अन्य मामलों में पांच-पांच साल जेल की सजा सुनाई जा चुकी है. चारा घोटाले में 30 सितंबर 2013 को आए पहले फैसले के बाद लालू प्रसाद यादव की लोकसभा सदस्यता चली गई थी. इसके साथ उनके चुनाव लड़ने पर पाबंदी लग गई थी. अभी उनके खिलाफ चारा घोटाले से जुड़े दो और मामले लंबित हैं.