भारत ने बैलिस्टिक मिसाइल धनुष का एक और सफल परीक्षण कर लिया है. यह परीक्षण शुक्रवार को ओडीशा तट के निकट बंगाल की खाड़ी में तैनात भारतीय नौसेना के एक पोत से किया गया. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि धनुष पृथ्वी मिसाइल का ही संस्करण है जिसे विशेष तौर पर नौसेना के लिए निर्मित किया गया है. इसकी मारक क्षमता 350 किलोमीटर की है.

परमाणु हमला करने में सक्षम धनुष मिसाइल अपने साथ 500 किलोग्राम तक हथियार ले जा सकती है. जमीन के साथ-साथ यह समुद्र में भी दुश्मन पर सटीक निशाना लगाने की क्षमता रखती है. इससे पहले 19 अप्रैल 2015 को बंगाल की खाड़ी में ही नौसेना पोत आईएनएस सुभद्रा से धनुष का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया था.

धनुष को पहले ही नौसेना में शामिल किया जा चुका है. इसे स्वदेश में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा विकसित और निर्मित किया गया है. भारत के एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम के अंतर्गत बनाई गई पृथ्वी, अग्नि, आकाश जैसी मिसाइलों में से धनुष भी एक है.