केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी) से कथित 97.85 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने और 110 करोड़ रुपये नहीं चुकाने के मामले में सिंभौली शुगर्स लिमिटेड के शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इन अधिकारियों में मिल के उपमहाप्रबंधक (डीजीएम) गुरपाल सिंह भी शामिल हैं. वे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद हैं.

गुरपाल सिंह के अलावा सीबीआई ने सिंभौली शुगर्स मिल के चेयरमैन गुरमीत सिंह मान, सीईओ जीएससी राव, सीएफओ संजय तापड़िया, एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर गुरसिमरन कौर मान और अन्य अधिकारियों समेत बैंक के अधिकारियों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है. रविवार को सीबीआई ने इस मामले में आठ जगहों पर छापामारी की थी. जांच एजेंसी के प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने बताया कि इनमें कंपनी के डायरेक्टरों के घर, फैक्टरी, कॉर्पोरेट दफ्तर और दिल्ली, हापुड़ और नोएडा स्थित पंजीकृत कार्यालय शामिल हैं.

एफआईआर के मुताबिक साल 2011 में आरबीआई की एक योजना के तहत ओबीसी ने सिंभौली शुगर्स को 148.60 करोड़ रुपये का ऋण दिया था. प्रवक्ता ने बताया कि यह पैसा 5,762 गन्ना किसानों का पैसा चुकाने के लिए दिया गया था. लेकिन ऐसा करने के बजाय कंपनी ने बेइमानी और धोखाधड़ी कर पैसा अपनी ज़रूरतों पर खर्च कर डाला. इसके बाद बैंक ने 17 नवंबर, 2017 को सीबीआई से शिकायत की. हालांकि जांच एजेंसी ने बीती 22 फरवरी को केस दर्ज किया.