Play

ऑस्कर अवार्ड को पाना फिल्मी दुनिया से जुड़े हर कलाकार का सपना होता है. इसकी शुरुआत 1929 में हुई थी. अवार्ड विजेता को ऑस्‍कर की ट्रॉफी दी जाती है जिसे गोल्‍डन लेडी भी कहा जाता है. हर ऑस्कर ट्रॉफ़ी को बनाने में लगभग 400 डॉलर यानी करीब 26 हजार रुपए का खर्च आता है. इसे बनाने में स्टील मिश्रित ब्रिटेनियम का इस्तेमाल होता है. और इस पर 24 कैरेट सोने की परत भी लगाई जाती है.

ऑस्कर ट्रॉफ़ी 13.5 इंच लंबी होती है और इसका वज़न 3.85 किलो होता है. इसकी आकृति एक योद्धा की है जो तलवार लिए हुए है और पांच तीलियों वाली एक फिल्म रील पर खड़ा है. 1983 के बाद से लगभग 50 ऑस्कर ट्रॉफियां हर साल शिकागो के इलिनोइ में आरएस ओवन्स एंड कंपनी द्वारा बनाई जाती हैं.

1950 के बाद से अकैडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स एंड साइंसेज ऑस्कर जीतने वालों के साथ एक अनुबंध भी करती है जिसके अनुसार ऑस्कर ट्रॉफी को बेचा नहीं जा सकता है.