‘जब तक 18वीं सदी की सोच है, हमें खुद को 21वीं सदी का नागरिक कहने का कोई हक नहीं है.

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह बयान देश में लड़कियों के साथ जारी भेदभाव और कन्या भ्रूण हत्या की समस्या को लेकर आया. राजस्थान के झुंझुनू में उन्होंने कहा, ‘वेद और विवेकानंद वाले इस देश में यह बुराई न जाने कहां से घर कर गई है, जिससे बेटियों को बचाने के लिए हाथ-पैर जोड़ना पड़ रहा है.’ बेटियों को परिवार की आन, बान और शान बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नई पीढ़ी को सामाजिक बदलाव लाना होगा. प्रधानमंत्री के मुताबिक अगर किसी घर में सास कह दे कि उसे बेटी चाहिए तो फिर बेटियों को कोई भी नुकसान नहीं पहुंचा सकता है.

‘नीतिश कुमार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की दहशत में जी रहे हैं.’

— मनोज झा, राजद प्रवक्ता

राजद नेता मनोज झा का यह बयान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बिहार के लिए केंद्र से विशेष राज्य के दर्जे की मांग करने की अपील करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग पर मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू द्वारा उठाए गए कदम को हम सलाम करते हैं.’ मनोज झा ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अगर चंद्रबाबू नायडू की तुलना में एक फीसदी भी हिम्मत दिखा दें तो राज्य का भला हो जाए. उनके मुताबिक बिहार में महागठबंधन तोड़कर भाजपा के साथ जाने का नीतीश कुमार का फैसला 2015 के जनादेश का अपमान है.


‘इस समय भारत में राजनीति का बहुत गंदा स्वरूप जड़ें जमाने में लगा है.’

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का यह बयान भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधते हुए आया. नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर में उन्होंने कहा, ‘हम शुरू से भाजपा और आएसएस से लड़ रहे हैं.’ राहुल गांधी ने आगे कहा कि कांग्रेस देश में जड़ें जमा रही गंदी राजनीति का मुकाबला करेगी और अगले चुनाव में भाजपा को परास्त करेगी. उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा देश में शांति और सद्भाव की चिंता नहीं करती है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जम्मू-कश्मीर में अशांति के लिए राज्य की भाजपा-पीडीपी सरकार के गलत फैसलों को जिम्मेदार ठहराया.


‘घरवालों की मर्जी के बगैर लड़कियों की शादी की उम्र 21 साल होनी चाहिए.’

— गोपाल शेट्टी, भाजपा सांसद

भाजपा सांसद गोपाल शेट्टी का यह बयान लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने के लिए लोकसभा में निजी सदस्य विधेयक पेश करने के बाद आया. उन्होंने कहा, ‘इस विधेयक में लड़कियों के लिए अभिभावकों की मर्जी से शादी करने की उम्र 18 वर्ष और उनकी मर्जी के बगैर शादी करने की उम्र 21 साल करने की मांग की गई है.’ भाजपा सांसद गोपाल शेट्टी ने आगे कहा कि 18 साल की उम्र में लड़कियां मानसिक और भावनात्मक तौर पर सही से बालिग नहीं हो पाती हैं. उनके मुताबिक 18 साल की उम्र में लड़कियों को बहला-फुसलाकर उनसे शादी कर ली जाती है, फिर उन्हें प्रताड़ित किया जाता है.


‘चीनी ड्रैगन और भारतीय हाथी को साथ में डांस करना चाहिए, न कि लड़ना.’

— वांग यी, चीन के विदेश मंत्री

चीन के विदेश मंत्री वांग यी का यह बयान भारत और चीन से एक-दूसरे का समर्थन करने की अपील करते हुए आया. उन्होंने कहा कि अगर चीन और भारत एक साथ आ जाएं तो एक-एक मिलकर दो नहीं, बल्कि 11 हो जाएंगे. वांग यी ने आगे कहा कि दोनों देशों के रिश्तों में आपसी भरोसा ही सबसे मूल्यवान चीज है और अगर यह है तो हिमालय भी दोनों देशों को साथ आने से नहीं रोक सकता है. उन्होंने यह भी कहा कि 2017 की कुछ मुश्किलों को छोड़ दें तो दोनों देशों के रिश्ते लगातार मजबूत हो रहे हैं. चीनी मंत्री के मुताबिक दोनों देशों के आपसी हित मतभेदों की तुलना में ज्यादा वजनी हैं.